Friday , May 24 2024
Home / देश-विदेश / नक्सलियों ने झारखंड में उड़ाया पंचायत भवन, पढ़े पूरी ख़बर

नक्सलियों ने झारखंड में उड़ाया पंचायत भवन, पढ़े पूरी ख़बर

झारखंड में नक्सलवाद के खात्मे के दावों के बीच नक्सली गतिविधियां जारी है। खास तौर पर भाकपा माओवादी संगठन की ओर से लगातार वारदातों को अंजाम दिया जा रहा है। ताजा मामला चाईबासा के सोनुवा का है। यहां गुरुवार देर रात भाकपा माओवादी संगठन के उग्रवादियों ने एक पंचायत भवन को ब्लास्ट कर उड़ा दिया। नक्सलियों ने सोनुवा स्थित कदमडीहा पंचायत भवन को उड़ाया। नक्सलियों ने पंचायत भवन के गेट पर चेतावनी भरी बातें भी लिखी है।
प्रतिरोध की भावना में नक्सलियों ने किया ब्लास्ट गौरतलब है कि नक्सलियों ने प्रतिरोध की भावना से यह हमला किया है। घटना के संबंध में मिली जानकारी के मुताबिक कोल्हान जंगल एरिया स्थित गोइलकेरा प्रखंड के कदमडीहा पंचायत भवन को नक्सलियों ने आईईडी ब्लास्ट कर उड़ा दिया। घटना की जानकारी मिलते ही शुक्रवार सुबह कुईड़ा कैंप से सीआरपीएफ जवानों के साथ गोइलकेरा और सुनवा थाने की पुलिस घटनास्थल की ओर रवाना हो गई है। नक्सलियों ने घटना के बाद वहां पर्चा छोड़ा है। दीवार और दरवाजों पर धमकी भरी बातें लिखी है। नक्सलियों ने दीवारों पर लिखी धमकी भरी बात नक्सलियों ने पंचायत भवन की दीवार पर लिखा है कि 22 से 24 फरवरी के बीच राज्यव्यापी प्रतिरोध दिवस मनाया जाएगा। लिखा है कि माओवादियों को खदेड़ने के नाम पर पुलिस और अर्धसैनिक बलों द्वारा कोल्हान के आदिवासियों के ऊपर चलाया जा रहा बर्बर युद्ध अभियान बंद करो। इसमें मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन का जिक्र करते हुए उनसे जवाब तलब किया गया है। झारखंड में जारी है नक्सलरोधी अभियान बता दें कि झारखंड में पिछले साल नक्सलियों के सफाए के लिए ऑपरेशन ऑक्टोपस चलाया जा रहा है। इस अभियान के तहत कोल्हान और बूढ़ा पहाड़ एरिया में व्यापक पैमाने पर नक्सलियों को नुकसान पहुंचा है। दुर्गम इलाकों में नक्सलियों के कैंप तबाह किए गए हैं। मुठभेड़ में मार गिराने के अलावा उग्रवादियों को गिरफ्तार किया गया है। इस दौरान बड़ी संख्या में नक्सलियों ने आत्मसमर्पण भी किया है। 28 दिसंबर 2022 को भाकपा माओवादी संगठन के रीजनल कमांडर अमन गंझू ने आत्मसमर्पण किया। 3 जनवरी को 3 महिला सहित कुल 8 नक्सलियों ने पुलिस के समक्ष आत्मसमर्पण किया। गिरिडीह के पारसनाथ एरिया से कुख्यात नक्सली कृष्णा हांसदा को गिरफ्तार किया गया। इन कार्रवाइयों से नक्सलियों की कमर टूटी है।