Thursday , May 23 2024
Home / देश-विदेश / उत्तराखंड में भाजपा विधायकों और कार्यकर्ताओं की दिल की धड़कनें एक बार फिर हुई तेज, पढ़ें पूरी खबर ..

उत्तराखंड में भाजपा विधायकों और कार्यकर्ताओं की दिल की धड़कनें एक बार फिर हुई तेज, पढ़ें पूरी खबर ..

उत्तराखंड में भाजपा विधायकों और कार्यकर्ताओं की दिल की धड़कनें एक बार फिर तेज हो गईं हैं।  मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के दिल्ली रवाना होते ही भाजपा में एक बार फिर हलचल तेज हो गई है। माना जा रहा है सीएम धामी केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात कर सकते हैं। सीएम धामी की दोनों नेताओं से मुलाकात के कई मायने निकाले जा रहे हैं। राजनीतिक सूत्रों की बात मानें तो मुख्यमंत्री धामी उत्तराखंड मे दायित्वों के आंवटन पर चर्चा कर सकते हैं। माना जा रहा है कि होली के आसपास दायित्व बंट सकते हैं। दिल्ली में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के बेटी के रिसेप्सन कार्यक्रम में शामिल होंगे। सूत्रों ने बताया कि मुख्यमंत्री कार्यालय की तरफ से केंद्रीय मंत्री शाह और भाजपा अध्यक्ष नड्डा से समय भी मांगा है। इस दौरान वे दायित्व के आवंटन पर चर्चा कर सकते हैं। धामी का एक साल का कार्यकाल 23 मार्च को पूरे होने जा रहा है। इस अवधि कुछ ही संवैधानिक आयोगों में ही दायित्व बंटें हैं, जबकि भाजपा कार्यकर्ता लंबे समय से दायित्वों को लेकर इंतजार कर रहे हैं। भाजपा संगठन भी जल्द दायित्व आवंटन के पक्ष में है, ताकि वरिष्ठ कार्यकर्ताओं का निकाय और लोकसभा चुनावों में लाभ लिया जा सके।शनिवार को सीएम खटीमा के चकरपुर वनखंडी महादेव मंदिर में महा शिवरात्रि पर पूजन कार्यक्रम और दोपहर चंपावत में सप्तेश्वर महादेव मंदिर के पुनर्निर्माण व भूमि पूजन कार्यक्रम में शरीक हुए। इसके बाद वे पंतनगर एयरपोर्ट से दिल्ली के लिए रवाना हो गए। भाजपा प्रभारी गौतम के साथ पहले होगा मंथन भाजपा के प्रदेश प्रभारी दुष्यंत कुमार गौतम 24 फरवरी से उत्तराखंड के दो दिवसीय दौरे पर आ रहे हैं। इस दौरान वे कई संगठनात्मक बैठकों के साथ ही दायित्व आवंटन पर प्रदेश नेतृत्व के साथ मंथन करेंगे। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने बताया कि पहली दफा संगठन में युवा कार्यकर्ताओं को तरजीह दी गई है। ऐसे में संगठन पहले चरण में ज्यादात्तर सीनियर कार्यकर्ताओं को सरकार में एडजस्ट करने के पक्ष में है। उन्होंने बताया कि प्रदेश प्रभारी गौतम के साथ ही होने वाली बैठक के बाद ही मुख्यमंत्री को कार्यकर्ताओं को सूची भेजी जाएगी।