Monday , March 4 2024
Home / जीवनशैली / क्‍या आपको भी पीर‍ियड्स में बुखार, स‍िर दर्द जैसे लक्षण महसूस होते हैं? जानें इसका उपाय-  

क्‍या आपको भी पीर‍ियड्स में बुखार, स‍िर दर्द जैसे लक्षण महसूस होते हैं? जानें इसका उपाय-  

पीर‍ियड्स में मह‍िलाओं को कई शारीर‍िक और मानसिक समस्‍याओं का सामना करना पड़ता है। ऐसी ही एक समस्‍या है पीर‍ियड फ्लू (Period Flu)। कुछ मह‍िलाओं को पीर‍ियड्स के दौरान या उससे पहले बुखार जैसे लक्षण महसूस होने लगते हैं। पीरियड फ्लू इन्फ्लुएंजा नहीं है। इसे फ्लू इसल‍िए कहा जाता है क्‍योंक‍ि इसके लक्षण फ्लू जैसे होते हैं। पीर‍ियड फ्लू होने पर चक्‍कर आना, मांसपेश‍ियों में दर्द, जोड़ों में दर्द, कब्‍ज, दस्‍त, स‍िर दर्द, पीठ दर्द और ठंडा लगना आद‍ि लक्षण नजर आते हैं। पीर‍ियड्स में फ्लू जैसे लक्षण महसूस होने का कोई ठोस कारण नहीं है। लेक‍िन एक्‍सपर्ट्स ऐसा मानते हैं क‍ि पीर‍ियड्स में यूटीआई और अन्‍य तरह के इन्‍फेक्‍शन होने का खतरा बढ़ जाता है। इन्‍फेक्‍शन के कारण पीर‍ियड्स में बुखार आ सकता है।पीर‍ियड्स फ्लू का इलाज करने के ल‍िए लखनऊ के केयर इंस्‍टिट्यूट ऑफ लाइफ साइंसेज की एमडी फ‍िजिश‍ियन डॉ सीमा यादव ने कुछ आसान ट‍िप्‍स शेयर क‍िए हैं। इन ट‍िप्‍स की मदद से आप भी पीर‍ियड्स में हेल्‍दी रह सकती हैं और बुखार के लक्षणों से बच सकती हैं।  

1. हेल्‍दी डाइट का सेवन करें-

पीर‍ियड्स में बुखार आ जाता है, तो अपनी डाइट पर गौर करें। व‍िटाम‍िन-सी र‍िच फूड्स को अपनी डाइट में शाम‍िल करें। रोज 1 ग‍िलास हल्‍दी वाला दूध प‍िएं। सीजनल एलर्जी के कारण (Seasonal Allergy Causes) भी पीर‍ियड्स के दौरान बुखार आ जाता है। बुखार में ऐसी चीजों का सेवन करना चाह‍िए ज‍िससे इम्‍यून‍िटी बढ़े। अपनी डाइट में हल्‍दी वाला दूध शाम‍िल करें। हल्‍दी में एंंटीइंफ्लेमेटरी, एंटीवायरल, एंटीफंंगल और एंटीबैक्‍टीर‍ियल गुण होते हैं ज‍िससे बुखार में बॉडी पेन से न‍िजात म‍िलता है।     

2. पूरे द‍िन लेटी न रहें-

क्‍या आप पीर‍ियड्स में पूरे द‍िन लेटी रहती हैं? इस आदत के कारण आप बीमार पड़ सकती हैं। पीर‍ियड्स में पूरे द‍िन लेटे रहने से आलस्‍य महसूस होता है। शरीर थका हुआ रहता है। सुस्‍ती आती है और शरीर में टूटन महसूस होती है। ठीक बुखार के लक्षणों की तरह। इस समस्‍या से बचने के ल‍िए पूरे द‍िन लेटे रहने से बचें। अपनी पोज‍िशन बदलें। 5 म‍िनट वॉक करें, फ‍िर बैठ जाएंं। बाहर नहीं जा सकतीं, तो कमरे में ही वॉक कर लें।

3. डीप ब्रीद‍िंग एक्‍सरसाइज करें-

पीर‍ियड फ्लू की समस्‍या को दूर करना चाहती हैं, तो डीप ब्रीद‍िंग एक्‍सरसाइज करें। इस एक्‍सरसाइज को करने के ल‍िए शांत मुद्रा में बैठ जाएं। गहरी सांस लें और छोड़ें। सुबह-शाम 5 म‍िनट इस एक्‍सरसाइज को करने से आपको फर्क देखने को म‍िलेगा। पीर‍ियड फ्लू होने पर इंटेंस वर्कआउट करना जरूरी नहीं है। हल्‍की वॉक या एक्‍सरसाइज भी कर सकती हैं।

4. भरपूर मात्रा में पानी प‍िएं-

बुखार के लक्षण (Fever Symptoms) से बचने के ल‍िए भरपूर मात्रा में पानी का सेवन करें। पर्याप्‍त पानी का सेवन करने से पीर‍ियड में कब्‍ज की समस्‍या दूर होती है। अच्‍छी नींद आती है और थकान, कमजोरी जैसे लक्षणों से छुटकारा म‍िलता है। पीर‍ियड्स में पानी के अलावा ताजे फलों का रस, सब्‍ज‍ियों का रस, ग्रीन टी, हर्बल टी और नींबू पानी आद‍ि का सेवन भी कर सकती हैं।

5. नींद पूरी करें-  

स्‍लीप क्‍वॉल‍िटी इंप्रूव होने से पीर‍ियड फ्लू की समस्‍या दूर होती है। अगर आपको पीर‍ियड्स के दौरान बुखार जैसे लक्षण महसूस हो रहे हैं, तो नींद पूरी करें। आराम करने से शरीर र‍िलैक्‍स होगा और आप बेहतर महसूस करेंगी। पीर‍ियड्स में हर द‍िन 7 से 8 घंटों की नींद लेनी चाह‍िए। तनाव के कारण नींद पूरी करने में परेशानी होती है। तनाव से बचने के ल‍िए आस-पास पॉज‍िट‍िव माहौल बनाएं और साफ-सफाई का ख्‍याल रखें।

ऊपर बताए इन ट‍िप्‍स की मदद से पीर‍ियड फ्लू की समस्‍या को दूर करने में मदद म‍िलेगी। उम्‍मीद करते हैं आपको यह जानकारी पसंद आई होगी। लेख को शेयर करना न भूलें।