Wednesday , April 17 2024
Home / Uncategorized / जानिए क्यों बाबा का बुलडोजर प्रेमचंद और उसके चार साथियों के मकान पर गरजेगा

जानिए क्यों बाबा का बुलडोजर प्रेमचंद और उसके चार साथियों के मकान पर गरजेगा

देवरिया सामूहिक हत्याकांड के बाद प्रेम और उसके चार साथियों के मकान पर बुलडोजर चलेगा। शुक्रवार को प्रशासन ने नोटिस चस्पा कर दिया। उधर, तहसीलदार कोर्ट में धारा 67 का केस चलेगा। जुर्माना भी लगाया गया है। लेखपाल ने रिपोर्ट दे दी है। आरोपियों के मकान सरकारी जमीन पर बने हैं।

फतेहपुर गांव के लेड़हा टोला में सामूहिक हत्याकांड में नामजद प्रेम यादव समेत पांच आरोपियों के घर पर शुक्रवार की शाम प्रशासन ने सरकारी जमीन से बेदखली का नोटिस चस्पा करा दिया। नोटिस के माध्यम से आरोपियों पर जुर्माना लगाने के साथ ही जवाब देने के लिए एक दिन यानी शनिवार तक की मोहलत दी गई है।

कहा गया है कि तय अवधि में सरकारी जमीन खाली नहीं की तो प्रशासन का बुलडोजर चल जाएगा। नोटिस चस्पा होने के बाद गांव में हड़कंप मच गया है। सरकारी जमीन पर मकान बनवाने के मामले में प्रेम यादव पर 31 हजार और चार अन्य आरोपियों पर 39 हजार का जुर्माना लगाया गया है। जुर्माने की राशि शनिवार तक जमा करनी है।

दरअसल, लेखपाल ने रिपोर्ट दी है कि इन आरोपियों ने सरकारी जमीन पर मकान बनवा लिया है। इसके बाद तहसीलदार कोर्ट में पूर्व जिला पंचायत सदस्य प्रेम यादव के पिता समेत पांच आरोपियों के खिलाफ धारा 67 एक के तहत केस चलाया गया। नोटिस चस्पा होने के बाद अब कभी भी इन पांचों मकानों पर बुलडोजर चल सकता है।

लेखपाल की रिपोर्ट के अनुसार, फतेहपुर गांव के अभयपुर टोले में पूर्व जिला पंचायत सदस्य प्रेम यादव के पिता रामभवन यादव, परमहंस यादव समेत पांच लोगों के मकान सरकारी जमीन पर बने हैं। इसमें वन विभाग और एक इंटर कॉलेज की जमीन शामिल है।

 

सामूहिक हत्याकांड के बाद बाद जांच में यह जानकारी मिली तो प्रशासन ने कार्रवाई की प्रक्रिया शुरू कर दी। शुक्रवार को सरकारी जमीन से बेदखली की कार्रवाई शुरू होते ही गांव के लोग सकते में आ गए। शाम को तहसील के कर्मचारियों ने पूर्व जिला पंचायत सदस्य प्रेम यादव के पिता रामभवन यादव, परमहंस यादव, गोरख यादव समेत पांच लोगों के मकानों पर नोटिस चस्पा कर दिया।

 

बुलडोजर की राह से रोड़ा हटा
फतेहपुर गांव के लेड़हा टोला में सामूहिक हत्याकांड में नामजद प्रेम सहित अन्य आरोपियों के मकानों पर बुलडोजर चलाने की कार्रवाई चार अक्तूबर को ही होनी थी, पर कानूनी पेच के कारण मामला टल गया था। धारा 67 के तहत आरोपियों को नोटिस नहीं दिया गया था। इसके कारण बुलडोजर को लौटना पड़ा। इस प्रक्रिया को अब पूरा कर लिया गया है। अब बुलडोजर चलना तय माना जा रहा है। संवाद

ये है पूरा मामला

बता दें कि देवरिया जिले में रुद्रपुर कोतवाली क्षेत्र के फतेहपुर गांव में सोमवार को सुबह छह बजे जमीन के विवाद में एक पूर्व जिला पंचायत सदस्य की धारदार हथियार से काटकर हत्या कर दी गई। इससे गुस्साएं पूर्व जिला पंचायत सदस्य के पक्ष के लोग दूसरे पक्ष के घर में घुसकर पति, पत्नी और उसके तीन संतानों को गोली मारकर और धारदार हथियार से प्रहार कर हत्या कर दी, जबकि एक बेटा गंभीर रूप से घायल हो गया है।

 

आरोपियों की तलाश में ताबड़तोड़ छापे, स्कूली बच्चे परिवार के साथ घरों में कैद
फतेहपुर गांव के लेड़हा टोला में सामूहिक हत्याकांड के आरोपियों की तलाश में पुलिस ने बुधवार की रात कई स्थानों पर ताबड़तोड़ छापे मारे। पुलिस की कार्रवाई से आरोपियों के सगे-संबंधी भी सहमे हुए हैं। गांव के चप्पे-चप्पे पर पुलिस का पहरा है। गांव में हर आने-जाने वाले का रिकॉर्ड पुलिस तैयार कर रही है। वहीं, पुलिस की पहरेदारी से गांव में अन्य ग्रामीणों की रोजमर्रा की जिंदगी प्रभावित होने लगी है। बच्चे स्कूल नहीं जा पा रहे हैं।

बृहस्पतिवार को भी गांव के अधिकांश बच्चे स्कूल नहीं गए। गांव के हर मोड़ पर पुलिस के पहरे और आरोपियों के मकानों पर बुलडोजर चलने की कार्रवाई की आशंका से ग्रामीण सहमे हैं। वह किसी बवाल की आशंका को देखते हुए पाल्यों को घरों से बाहर निकलने नहीं दे रहे हैं। गांव में स्कूल बस भी नहीं पहुंच रही है।

घटना में एक पक्ष के 27 नामजद और 50 अज्ञात लोगों में से पुलिस अब तक 20 आरोपियों को गिरफ्तार कर चुकी है। सात नामजद सहित 50 अज्ञात की तलाश तेजी से की जा रही है। पूर्व जिला पंचायत सदस्य प्रेम यादव के परिजनों से मिलने वालों पर पुलिस की निगाह बनी हुई है। महिलाएं गांव में आने-जाने वाले अधिकारियों की गाड़ी पर टकटकी लगाए देख रही हैं।

प्रेम यादव के परिवार से मिले सपाई
फतेहपुर सामूहिक हत्याकांड के चौथे दिन बृहस्पतिवार को कई सपा नेता अभयपुरा जाकर मृतक पूर्व जिला पंचायत सदस्य प्रेम यादव के परिवार से मिले। उन्होंने मृतक की पत्नी और बच्चों को ढांढस बंधाया और सरकार से मामले में निष्पक्ष कार्रवाई की मांग की है। सपा के नेता प्रेम के परिवार से मिलने के बाद घटना स्थल लेड़हा स्थित दूसरे पक्ष के घर पर भी गए।

सुबह 11 बजे सपा नेता, पूर्व मंत्री रामभुआल निषाद, प्रदीप यादव अभयपुरा पहुंच कर प्रेम यादव की पत्नी और उनके बच्चों से शोक संवेदना प्रकट किए। वह सत्यप्रकाश दूबे के घर पर भी गए। उन्होंने कहा कि यह घटना अत्यंत निंदनीय और दुर्भाग्यपूर्ण है। घटना के पीछे पुलिस प्रशासन की लापरवाही साफ दिख रही है। मामले में निष्पक्ष कार्रवाई होनी चाहिए। दिन में एक बजे सपा जिलाध्यक्ष व्यास यादव, अवनीश यादव, सिकंदर यादव, रामवृक्ष राजभ, रामकेवल यादव अभयपुर पहुंच कर प्रेम यादव की पत्नी शीला से मिलकर संवेदना व्यक्त किए।