Wednesday , April 24 2024
Home / खेल जगत / बंगाल के पूर्व क्रिकेटर ने क्लब क्रिकेट के मैच में फिक्सिंग का लगाया आरोप

बंगाल के पूर्व क्रिकेटर ने क्लब क्रिकेट के मैच में फिक्सिंग का लगाया आरोप

बंगाल के पूर्व क्रिकेटर श्रीवत्स गोस्वामी ने कोलकाता क्लब क्रिकेट के सुपर डिवीजन के एक मैच में फिक्सिंग का गंभीर आरोप लगाया है। उन्होंने अपने फेसबुक अकाउंट पर टाउन क्लब और मोहम्मडन स्पोर्टिंग क्लब के बीच पिछले दिनों हुए एक मैच का वीडियो फुटेज अपलोड कर मोहम्मडन स्पोर्टिंग के कुछ बल्लेबाजों के आउट होने के तरीके पर प्रश्न उठाया है। विकेटकीपर बल्लेबाज रहे श्रीवत्स गोस्वामी ने पिछले साल अक्टूबर में प्रथम श्रेणी क्रिकेट से संन्यास लिया था। वे 2008 में विराट कोहली के नेतृत्व में अंडर-19 वर्ल्डकप जीतने वाली भारतीय टीम का हिस्सा रहे हैं।

उन्होंने वीडियो फुटेज अपलोड कर लिखा, यह कोलकाता क्लब क्रिकेट का सुपर डिवीजन मैच है। दो बड़ी टीमें क्या कर रही हैं, क्या इसके बारे में कोई बता सकता है? मैं यह देखकर शर्मिंदगी महसूस कर रहा हूं। मैं क्रिकेट और बंगाल से खेलने से प्यार करता हूं, लेकिन यह देखकर मेरा दिल टूट गया है। क्लब क्रिकेट बंगाल का दिल और आत्मा है। कृपया इसे बर्बाद न करें। मुझे लगता है कि यह ‘पहले से निर्धारित’ क्रिकेट है।

खिलाड़ियों के आउट होने पर उठाए सवाल
इस मैच में टाउन क्लब ने पहली पारी में 446 रन बनाए थे। वीडियो फुटेज मोहम्मडन स्पोर्टिंग की पहली पारी का है। इसमें पहले बल्लेबाज संबित राय स्टंप आउट होते दिख रहे है। उसके बाद कप्तान दीप चटर्जी क्लीन बोल्ड होते नजर आ रहे हैं। इसी तरह कुछ और बल्लेबाज आसानी से अपना विकेट गंवाते दिख रहे हैं। श्रीवत्स का कहना है कि इन बल्लेबाजों के खेलने के तरीके से ही लग रहा है कि वे जान-बूझकर आउट हुए हैं।

कैब के महासचिव की ओर इशारा!
श्रीवत्स का इशारा बंगाल क्रिकेट संघ (कैब) के संयुक्त सचिव देबब्रत दास की ओर बताया जा रहा है। मालूम हो कि टाउन क्लब देवब्रत दास का है। देवब्रत पर पहले भी आरोप लगते आए हैं। उन पर अपने क्लब के खिलाड़ियों को बंगाल रणजी टीम में शामिल कराने का भी आरोप लग चुका है। अंदरखाने खबर है कि मोहम्मडन स्पोटिंग ने नियमों का उल्लंघन करते हुए हरियाणा के हर्षित साहनी नामक खिलाड़ी को अपनी टीम में शामिल किया है।

इसी को लेकर टाउन क्लब की ओर से मोहम्मडन स्पोर्टिंग को मैच अंक छोड़ने के लिए कहा गया था। ऐसा नहीं करने पर क्लब के प्रभावशाली अधिकारी की ओर से उसके खिलाफ सख्त कदम उठाने की चेतावनी दी गई थी। कैब के नियमों के अनुसार सुपर डिवीजन लीग के मैच की पहली पारी में बढ़त हासिल करने वाली टीम को सात अंक मिलते हैं।

इस मामले पर कैब और दोनों क्लब के अधिकारियों ने चुप्पी साध रखी है। दूसरी तरफ कोलकाता क्लब क्रिकेट से जुड़े कुछ लोग दबे शब्दों में कह रहे हैं कि मोहम्मडन स्पोर्टिंग के कुछ खिलाड़ियों को टाउन क्लब में शामिल होने का आफर दिया गया है।