Thursday , June 13 2024
Home / खास ख़बर / एक साल में रिकॉर्ड 11 करोड़ पर्यटक आए मध्य प्रदेश

एक साल में रिकॉर्ड 11 करोड़ पर्यटक आए मध्य प्रदेश

एक साल में रिकॉर्ड 11 करोड़ पर्यटकों ने मध्य प्रदेश के दर्शन किए हैं। सबसे ज्यादा पर्यटक उज्जैन में 5 करोड़ 28 लाख आए।

देश का दिल कहलाने वाले मध्य प्रदेश में एक साल में बड़ी संख्या में पर्यटक पहुंचे। यह एक रिकॉर्ड बन गया है। प्रदेश की ऐतिहासिक धरोहरों, गौरवशाली इतिहास, प्राकृतिक सौंदर्य, विविध वन्यजीव एवं आध्यात्मिक अनुभव के लिए मध्य प्रदेश ने साल 2023 में 11 करोड़ से ज्यादा पर्यटकों का स्वागत किया। जनवरी 2023 से दिसंबर 2023 तक मध्य प्रदेश में 11 करोड़ 21 लाख पर्यटक पहुंचे, जिनमें विदेशी पर्यटकों की संख्या 1 लाख 83 हजार रही। 2019 में कोविड प्रतिबंध लागू होने से पहले कुल 8,90,35,097 पर्यटकों का आगमन हुआ था। 2022 में पर्यटकों की संख्या 3,41,38,757 रही थी। प्रदेश में सबसे ज्यादा पर्यटक उज्जैन पहुंचे, जिनकी संख्या 5 करोड़ 28 लाख से ज्यादा रही।

बता दें 24 मई को मध्यप्रदेश राज्य पर्यटन विकास निगम (MPSTDC) का स्थापना दिवस है, इसी दिन को मध्य प्रदेश पर्यटन दिवस के रूप में भी मनाया जाता है। इस मौके पर प्रमुख सचिव पर्यटन एवं प्रबंध संचालक म.प्र. टूरिज्म बोर्ड शिव शेखर शुक्ला ने बताया कि पर्यटकों की रिकॉर्ड वृद्धि प्रदेश में बुनियादी ढांचे के विकास, धार्मिक पर्यटन में वृद्धि के साथ ही हमारी अनूठी सांस्कृतिक विरासत को बढ़ावा देने और सभी आगंतुकों के लिए एक यादगार अनुभव सुनिश्चित करने के हमारे ठोस एवं समर्पित प्रयासों का प्रमाण है। अपनी सेवाओं में लगातार सुधार कर और अपने क्षेत्र की प्राकृतिक सुंदरता और जीवंत परंपराओं को प्रचारित कर हम सफलतापूर्वक अधिक पर्यटकों को आकर्षित कर रहे हैं। इसका फायदा स्थानीय अर्थव्यवस्था को मिल रहा है और साथ ही हमारे समुदायों के विकास हेतु स्थायी अवसर सृजित हो रहे हैं।

धार्मिक स्थलों के विकास से ओर बढ़ेगी संख्या
प्रदेश के सर्वश्रेष्ट 10 स्थानों में से पांच गंतव्य धार्मिक स्थल उज्जैन, मैहर, चित्रकूट, ओंकारेश्वर और सलकनपुर हैं। प्रमुख सचिव शुक्ला के अनुसार कई लोग धार्मिक स्थलों पर जाकर मानसिक शांति और आध्यात्मिक ऊर्जा का अनुभव करते हैं। धार्मिक स्थलों का ऐतिहासिक और सांस्कृतिक महत्व भी पर्यटकों को आकर्षित कर रहा है। यह स्थल प्राचीन इतिहास, वास्तुकला और संस्कृति का अद्भुत मिश्रण होते हैं। उज्जैन में महाकाल लोक, ओंकारेश्वर में एकात्म धाम जैसी महत्वाकांक्षी परियोजनाओं ने भी प्रदेश में पर्यटकों की संख्या बढ़ाने में मदद की है। शुक्ला के अनुसार, सलकनपुर में देवी लोक, ओरछा में राजा राम लोक, छिंदवाड़ा में हनुमान लोक, चित्रकूट में श्रीराम वनगमन पथ जैसी महत्वाकांक्षी परियोजनाएं पूर्ण होने के बाद निश्चित ही प्रदेश में पर्यटकों की संख्या में ओर वृद्धि होगी।

प्रदेश के टॉप-10 पर्यटन केंद्रों पर पहुंचे लोगों की संख्या

  • पर्यटन केंद्र पर्यटकों की संख्या
  • उज्जैन- 52841802
  • मैहर- 16849000
  • इंदौर- 10119030
  • चित्रकूट- 9001126
  • ओंकारेश्वर- 3475000
  • जबलपुर- 2669869
  • सलकनपुर- 2565000
  • नर्मदापुरम (पचमढ़ी, मढ़ई, नर्मदापुरम, आदमगढ़)- 2283837
  • रायसेन (भीमबेटका, सांची, भोजपुर)- 2137058
  • भोपाल- 1950965

वर्ष-पर्यटकों की संख्या

  • 2023- 11,21,29,094
  • 2022- 3,41,38,757
  • 2021- 2,55,95,668
  • 2020- 2,14,00,693
  • 2019- 8,90,35,097
  • 2018- 8,46,14,456
  • 2017- 5,88,62,584