Tuesday , July 16 2024
Home / बाजार / टमाटर की कीमतों में नहीं आ रही है गिरावट…

टमाटर की कीमतों में नहीं आ रही है गिरावट…

उत्तरी भारत में हरी सब्जियों के साथ टमाटर के दाम में जबरदस्त तेजी देखने को मिली है। टमाटर महंगा हो जाने की वजह से आम जनता को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। देश की राजधानी दिल्ली के कई क्षेत्रों में टमाटर के भाव 90 रुपये प्रति किलोग्राम पहुंच गए हैं। टमाटर के दाम बढ़ जाने से आम जनता के साथ सब्जी विक्रेता भी काफी परेशान हैं।

देश के सभी शहरों में हरी सब्जियों के साथ टमाटर के दाम (Tomato Price Hike) चढ़ गए हैं। देश की राजधानी दिल्ली के कई क्षेत्रों में टमाटर 90 रुपये प्रति किलो के भाव पर बिक रहा है। मानसून में हो रही भारी बारिश की वजह से कई राज्यों में टमाटर की फसल खराब हो गई हैं।

सब्जी विक्रेता ने बताया कि भारी बारिश की वजह से टमाटर की सप्लाई सही से नहीं हो रही है, जिसकी वजह से इनके दाम बढ़ गए हैं।

लोकल मार्केट के साथ दिल्ली के थोक बाजार जैसे आजादपुर मंडी, गाजीपुर मंडी, ओखला सब्जी मंडी में भी टमाटर के दाम ज्यादा है। लोकल मार्केट और ऑनलाइन रिटेल प्लेटफॉर्म पर भी टमाटर की कीमतों में इजाफा हो जाने से दिल्ली निवासी भी काफी परेशान है।

लक्ष्मी नगर निवासी ने न्यूज एजेंसी पीटीआई को बताया कि कुछ दिन पहले जहां टमाटर के दाम 28 रुपये प्रति किलो थे वह अब 90 रुपये प्रति किलो हो गए हैं। टमाटर के साथ हरी सब्जियां भी महंगी हो गई हैं।

आजादपुर मंडी में थोक सब्जी विक्रेता संजय भगत ने कहा
बारिश की वजह से थोक बाजार में भी टमाटर की कीमतों में तेजी आई है। थोक बाजार में टमाटर 50 रुपये प्रति किलो के भाव से बिक रहा है। पिछले एक हफ्ते में टमाटर की सप्लाई अच्छी नहीं रही, जिसकी वजह से इनकी कीमतों में इजाफा हुआ है। महाराष्ट्र, कर्नाटक और हिमाचल जैसे राज्यों से ले जाने वाले ट्रकों की संख्या में भी गिरावट आई है। भारी बारिश की वजह से परिवहन प्रभावित हुआ है जिसकी वजह से सप्लाई कम हो रहा है।

भारी बारिश है वजह
गाजीपुर सब्जी मंडी के विक्रेता परवीत ने बताया कि एक हफ्ते पहले टमाटर 30 से 35 रुपये प्रति किलो के भाव पर बिक रहे थे, जो अब 60-70 रुपये प्रतिकिलोग्राम बिक रहे हैं।

ओखला सब्जी मंडी के सब्जी विक्रेता के अनुसार पिछले एक सप्ताह में टमाटर की कीमतों में जबरदस्त उछाल देखने को मिला है। यह उछाल भारी बारिश की वजह से आया है। टमाटर की सेल्फ लाइफ ज्यादा नहीं होती है। यह जल्दी से सड़ने लगता है। ऐसे में इसे ज्यादा दिन के लिए स्टोर नहीं किया जा सकता है।

भारी बारिश की वजह से सप्लाई चेन प्रभावित हुआ, जिसकी वजह से इसके दाम बढ़ गए। वर्तमान में देश के कई राज्यों में मानसून के आगमन की वजह से भारी बारिश हो रही है।