Sunday , January 29 2023
Home / देश-विदेश / आतंकी हिंसा का शिकार बन रहे पत्रकारों की संख्या में हुई वृद्धि, अब तक मारे गए 67 मीडियाकर्मी

आतंकी हिंसा का शिकार बन रहे पत्रकारों की संख्या में हुई वृद्धि, अब तक मारे गए 67 मीडियाकर्मी

यूक्रेन-रूस युद्ध, हैती में अराजकता और मेक्सिको में आपराधिक समूहों द्वारा बढ़ती हिंसा ने 2022 में कई पत्रकारों की जान ले ली। आतंकी हिंसा का शिकार बन रहे पत्रकारों की संख्या में तेजी से वृद्धि देखी जा रही है। इंटरनेशनल फेडरेशन ऑफ जर्नलिस्ट्स की एक नई रिपोर्ट के अनुसार दुनिया भर में इस साल अब तक 67 पत्रकार और मीडियाकर्मी मारे जा चुके हैं, जबकि पिछले साल 47 मारे गए थे।

375 पत्रकारों को किया गया कैद

ब्रुसेल्स स्थित इस फेडरेशन ने बताया कि मीडियाकर्मियों पर दबाव बनाने के लिए उनकों कैद भी किया जाता है। हांगकांग, म्यांमार और तुर्की सहित चीन में पत्रकारों पर सबसे ज्यादा अत्याचार की घटनाए देखने को मिली है। पिछले साल की रिपोर्ट में 365 पत्रकारों को सलाखों के पीछे डाला गया है।