Friday , May 24 2024
Home / देश-विदेश /  देश डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग हब बनने की ओर है- रक्षा मंत्री

 देश डिफेंस मैन्युफैक्चरिंग हब बनने की ओर है- रक्षा मंत्री

बेंगलुरु में आज पीएम नरेंद्र मोदी ने एयरो इंडिया 2023 को 14वें संस्करण का उद्घाटन किया। यह कार्यक्रम कर्नाटक के बेंगलुरु में वायुसेना के येलहंका एयर फोर्स स्टेशन में आयोजित किया गया है। एशिया के सबसे बड़े इस एयर शो में आज कई समझौते होंगे। इस मौके पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और कई वरिष्ठ मंत्री एवं नेता मौजूद थे।
एयरो इंडिया 2023 के 14वें संस्करण में पीएम मोदी ने कहा कि रक्षा एक ऐसा क्षेत्र है, जिसकी तकनीक, मार्केट और सतर्कता को सबसे जटिल माना जाता है। हमारा लक्ष्य है 2024-25 तक इसके निर्यात के आंकड़े को डेढ़ बिलियन से बढ़ाकर 5 बिलियन डॉलर तक ले जाया जाए।

केन्द्रीय रक्षा मंत्री ने पीएम मोदी की सराहना की

इस मौके पर केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने पीएम मोदी की सराहना करते हुए कहा, “प्रधानमंत्री जी के नेतृत्व और मार्गदर्शन में हमारा देश, हर क्षेत्र में सफलता की नित नई बुलंदियां छू रहा है। विश्व के राजनैतिक और आर्थिक मानचित्र पर हमारा देश, पिछले कुछ वर्षों में बड़ी मजबूती के साथ उभरकर सामने आया है। आज, एयरो इंडिया 2023 के उद्घाटन समारोह के महत्त्वपूर्ण अवसर पर, हमारे माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी का हम सबके बीच होना, बड़ी प्रसन्नता की बात है। अपने व्यस्ततम कार्यक्रम में से समय निकालकर, आपने यहां अपनी गरिमामयी उपस्थिति प्रदान की।”

‘कर्नाटक एयरो इंडिया आयोजन के लिए उपयुक्त स्थान’

केंद्रीय रक्षा मंत्री ने कहा, “कर्नाटक की भूमि धर्म, दर्शन, अध्यात्म, शौर्य-पराक्रम और विज्ञान की भूमि रही है। यह प्रदेश औद्योगीकरण में हमेशा आगे रहा है और हमारे देश के आर्थिक विकास में योगदान देने वाले सबसे प्रमुख राज्यों में से एक है। ऐसे में एयरो इंडिया के आयोजन के लिए यह बेहद उपयुक्त स्थान है।”

भारत बन रहा बेहतरीन विनिर्माण केन्द्र

रक्षा मंत्री ने कहा, “एयरो इंडिया का यह आयोजन देश के विशेषकर कर्नाटक राज्य के औद्योगिक और आर्थिक विकास के प्रति किए गए वादे की अभिव्यक्ति है। भारत अपने व्यापार अनुकूल वातावरण और लागत प्रतिस्पर्धात्मकता के कारण एक बेहतरीन विनिर्माण केन्द्र बना है। हमारे प्रधानमंत्री जी की व्यापक दृष्टि और संकल्प के साथ, भारत दुनिया की पांचवीं सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन गया है।

700 से अधिक प्रदर्शक हुए शामिल

केन्द्रीय मंत्री राजनाथ सिंह ने वहां मौजूद सभी लोगों को संबोधित करते हुए कहा, “मैं आप सभी का रक्षा मंत्रालय, भारत सरकार की ओर हार्दिक स्वागत और अभिनंदन करता हूं। मुझे इस सभी एक साथ सभी को इकट्ठा देखकर काफी खुशी हो रही है कि इस प्रदर्शनी में देश-विदेश से 700 से अधिक प्रदर्शक अपनी सबसे लेटेस्ट तकनीकों और उपकरणों के साथ यहां आए हैं।”

रक्षा निर्माण हब बनने की ओर भारत

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा, “मैं आप सभी से, रक्षा निर्माण हब बनने की ओर, भारत की यात्रा में सहयात्री बनने का आह्वान करता हूं। हमारे रक्षा क्षेत्र ने कुछ वर्षों में एक लंबी यात्रा तय की है। इस यात्रा में रक्षा क्षेत्र ने सफलता के कई पड़ाव पार किए जो आगे चल कर इस क्षेत्र में मजबूती का स्तंभ बने हैं। एयरो इंडिया भी उन्हीं स्तंभों में से एक है।”