Friday , May 24 2024
Home / MainSlide / छत्तीसगढ़ में 2022-23 में विकास दर आठ प्रतिशत अनुमानित

छत्तीसगढ़ में 2022-23 में विकास दर आठ प्रतिशत अनुमानित

रायपुर 03 मार्च।छत्तीसगढ़ विधानसभा में आज पेश किए गए आर्थिक सर्वेक्षण में 2022-23 में विकास दर आठ प्रतिशत अनुमानित हैं जोकि इस अवधि में देश की अनुमानित विकास दर से एक प्रतिशत अधिक हैं।

खाद्य मंत्री अमरजीत भगत द्वारा पेश की गई रिपोर्ट के अनुसार राज्य का जी.एस.डी.पी. स्थिर भावों पर वर्ष 2021-22 में 2 लाख 67 हजार 681 करोड़ रूपए से बढ़कर वर्ष 2022-23 में 2 लाख 89 हजार 82 करोड़ रूपए अनुमानित है। इस वर्ष विकास दर आठ प्रतिशत होना अनुमानित है। राज्य का जी.एस.डी.पी. (प्रचलित भावों पर) वर्ष 2022-23 में 4 लाख 57 हजार 608 करोड़ रूपए अनुमानित है। इस वर्ष जी. एस. डी. पी. (प्रचलित भावों पर) विकास दर 12.60 प्रतिशत होना अनुमानित है।

आर्थिक सर्वेक्षण के अनुसार अस अवधि में जहां राज्य में कृषि क्षेत्र में    छत्तीसगढ़ में वृद्धि दर 5.93 प्रतिशत अनुमानित हैं वहीं देश में यह 3.45 प्रतिशत ही अनुमानित है।      वर्ष 2022-23 में देश की की तुलना में राज्य में कृषि, उद्योग एवं सेवा क्षेत्र में अधिक वृद्धि हुई है।उद्योग क्षेत्र में जहां 7.83 प्रतिशत वृद्धि का अनुमान है वहीं राष्ट्रीय स्तर पर 4.11 प्रतिशत ही वृद्धि अनुमानित है।

इसी प्रकार सेवा क्षेत्र में छत्तीसगढ़ में वृद्धि दर 9.21 प्रतिशत अनुमानित है वहीं राष्ट्रीय स्तर पर इसके 9.14 प्रतिशत रहने का अनुमान है। जी.डी.पी. स्थिर भाव में 2022-23 में छत्तीसगढ़ का कृषि क्षेत्र में योगदान 16.9 प्रतिशत जबकि देश का योगदान 15 प्रतिशत,छत्तीसगढ़ का उद्योग क्षेत्र में योगदान 49.9 प्रतिशत जबकि देश का योगदान 30 प्रतिशत प्रतिशत और छत्तीसगढ़ का सेवा क्षेत्र में योगदान 33.2 प्रतिशत जबकि देश का योगदान 55 प्रतिशत है।

सर्वेक्षण के अनुसार प्रति व्यक्ति आय (निवल राज्य घरेलू उत्पाद प्रचलित भावों पर) एक लाख 33 हजार 898 रूपए अनुमानित है जबकि राष्ट्रीय स्तर पर प्रति व्यक्ति आय एक लाख 70 हजार 620 रूपए अनुमानित है।प्रति व्यक्ति आय में राज्य में वृद्धि 10.93 प्रतिशत जबकि राष्ट्रीय स्तर पर वृद्धि 13.7 प्रतिशत अनुमानित है।