Monday , April 15 2024
Home / Uncategorized / जानिए किन कारण से स्किन पर एक्ने हो रहा

जानिए किन कारण से स्किन पर एक्ने हो रहा

चेहरे पर ऑयलीनेस किसी को पसंद नहीं होती इसलिए हम हमेशा कोशिश करते हैं कि चेहरे से ऑयलीनेस को कम कर सकें लेकिन ऑइली स्किन होना बिल्कुल नेचुरल है। हां इससे एक्ने की समस्या हो सकती है लेकिन सही देखभाल से इसे कंट्रोल कर सकते हैं। इसके लिए जरूरी यह है कि आप इसके लिए अलग स्किन केयर फॉलो करें। जानें कैसे रखें ऑयली एक्ने प्रोन स्किन का ख्याल।

सभी की स्किन एक तरह की नहीं होती, कुछ की ड्राई होती है, कुछ की ऑयली तो किसी की कॉम्बीनेशन। इसमें से ऑयली स्किन टाइप एक्ने प्रोन भी होता है, जिसका ख्याल रखना बहुत मुश्किल होता है। इसके साथ सबसे बड़ी समस्या स्किन के पोर्स का क्लॉग होना है। इस वजह से अक्सर ही एक्ने और एक्ने मार्क्स की समस्या होती रहती है। इसलिए इस स्किन टाइप के लिए खास स्किन केयर रूटीन होना चाहिए और इस दौरान कुछ बातों का ध्यान रखना चाहिए। आइए जानते हैं कि ऑयली स्किन केयर रूटीन में किन बातों का ध्यान रखना चाहिए।

क्या है ऑयली स्किन?
ऑयली स्किन होने का मतलब होता है कि आपकी त्वचा अधिक ऑयल का उत्पादन करती है। इसके पीछे कई कारण हो सकते हैं हार्मोन्स, मौसम में बदलाव, डाइट, जेनेटिक्स या गलत स्किन केयर प्रोडक्ट का उपयोग। ऑयली स्किन के साथ ब्लैक हेड्स, व्हाइट हेड्स, एक्ने की समस्या अधिक हो जाती है। इसलिए यह जरूरी है कि अगर आपकी स्किन ऑयली है, तो आप उसका खास ख्याल रखें।

स्किन केयर रूटीन
क्लेंजिंग
त्वचा को साफ रखना स्किन केयर का सबसे बेसिक और पहला स्टेप होता है। गंदी त्वचा से स्किन से जुड़ी कई समस्याएं हो सकती हैं, लेकिन ऑयली एक्ने प्रोन स्किन के लिए यह और समस्या खड़ी कर सकता है। ऑयली स्किन के कारण त्वचा के पोर्स में गंदगी इकट्ठा हो सकती है और एक्ने हो सकते हैं। इसलिए सुबह और रात दोनों समय कलेंजिंग करना जरूरी है। ऐसे क्लेंजर का इस्तेमाल करें जिससे त्वचा अधिक ड्राई न हो, नहीं तो त्वचा उस ड्राईनेस को कम करने के लिए और अधिक ऑयल बनाती है। इसके साथ ही आप सैलिसाइक्लिक एसिड युक्त क्लेंजर का भी इस्तेमाल कर सकते हैं।

मॉइश्चराइजर
ऑयली स्किन के साथ यह मिथक जुड़ा होता है कि उन्हें मॉइ्चराइज करने की जरूरत नहीं होती, जबकि यह ऐसा नहीं है। मॉइश्चराइज करना ऑयली स्किन के लिए भी उतना ही जरूरी है, जितना ड्राई स्किन के लिए। हालांकि इस बात का ध्यान रखें कि आपका मॉइश्चराइजर जेल बेस्ड हो और त्वचा की पोर्स को क्लॉग न करता हो।

फेस मास्क
त्वचा का अधिक तेल स्किन के पोर्स को क्लॉग कर सकता है। इसलिए जरूरी है कि आप ऐसे फेस पैक का इस्तेमाल करें, जिनसे आपकी स्किन के पोर्स क्लीन हो सकें। इसके लिए आप क्ले और चारकोल मास्क का इस्तेमाल कर सकते हैं। यह आपकी त्वचा की ऑयलीनेस को भी कम करता है।

पिंपल को न छुएं
ऑयली स्किन और पिपंल का रिश्ता बहुत पुराना है। आप कितनी भी कोशिश कर लें एक-दो पिंपल्स तो हो ही जाते हैं, लेकिन इसमें घबराने की कोई बात नहीं है। इनसे परेशान होकर इन्हें जल्दी ठीक करने की कोशिश में इन्हें दबाएं या बार-बार छुएं नहीं। इन्हें दबाने से आपके चेहरे पर दाग हो सकते हैं और इन्फेक्शन होने की संभावना भी रहती है। इसलिए बार-बार अपने पिंपल न छुएं।

एक्सफोलिएट
ऑयली स्किन के साथ हम अक्सर ओवर एक्सफोलिएट करने की गलती करते हैं। इससे स्किन ज्यादा ड्राई हो जाती है और एक्ने की समस्या अधिक बढ़ सकती है क्योंकि इससे स्किन और ज्यादा ऑयल बनाने लगती है। इसलिए हफ्ते में एक या दो बार एक्सफोलिएट करना ही ठीक है। इसके साथ ही इस बात का भी ध्यान रखें कि बहुत हार्ष एक्सफोलिएटर का इस्तेमाल न करें। इससे माइक्रो टियरिंग हो सकती है।

इन सभी बातों के अलावा एक्ने की समस्या अधिक होने पर डॉक्टर से मिलें।