Friday , April 12 2024
Home / खेल जगत / GT vs SRH: अहमदाबाद में होगी चौके-छक्कों की बरसात या कहर बनकर टूटेंगे गेंदबाज

GT vs SRH: अहमदाबाद में होगी चौके-छक्कों की बरसात या कहर बनकर टूटेंगे गेंदबाज

चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ मिली हार के बाद गुजरात टाइटंस अपने होम ग्राउंड पर सनराइजर्स हैदराबाद से भिड़ेगी। शुभमन गिल की कप्तानी में गुजरात जीत की पटरी पर वापस लौटना चाहेगी। वहीं पिछले मैच में आईपीएल इतिहास का सबसे बड़ा स्कोर खड़ा करने वाली हैदराबाद टीम जीत की लय को बरकरार रखने के इरादे से मैदान पर उतरेगी।

आईपीएल के 12वें मैच में सनराइजर्स हैदराबाद की भिड़ंत गुजरात टाइटंस के साथ होगी। गुजरात को आखिरी मैच में चेन्नई सुपर किंग्स के हाथों हार का सामना करना पड़ा था। वहीं, हैदराबाद की टीम हाई-स्कोरिंग मुकाबले में पांच बार की चैंपियन मुंबई इंडियंस को मात देकर अहमदाबाद पहुंची है। ऐसे में एसआरएच की टीम जीत की लय को बरकरार रखने के इरादे से मैदान पर उतरेगी, तो गुजरात को सीजन की दूसरी जीत की तलाश होगी।

कैसी खेलती है अहमदाबाद की पिच?
सनराइजर्स हैदराबाद और गुजरात टाइटंस (GT vs SRH) के बीच रोमांचक मुकाबला अहमदाबाद के नरेंद्र मोदी क्रिकेट स्टेडियम में खेला जाएगा। इस मैदान को बल्लेबाजों के लिए स्वर्ग माना जाता है। गेंद बल्ले पर काफी अच्छे से आती है और शॉट मेकिंग काफी आसान रहती है। आउटफील्ड तेज होने की वजह से बॉल को बाउंड्री लाइन तक पहुंचने के लिए बल्लेबाजों को ज्यादा मशक्कत नहीं करनी पड़ती है। हालांकि, पिच से स्पिन गेंदबाजों को भी मदद मिलती है।

क्या कहते हैं आंकड़े?
अहमदाबाद के इस मैदान ने अब तक आईपीएल में कुल 28 मैचों की मेजबानी की है। इसमें से 14 में जीत पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम के हाथ लगी है। वहीं, इतने ही मैचों में मैदान रनों का पीछा करने वाली टीम ने मारा है। यानी टॉस इस ग्राउंड पर कुछ खास रोल प्ले नहीं करता है। इस मैदान पर हाईएस्ट स्कोर गुजरात टाइंटस के नाम दर्ज है। मुंबई के खिलाफ गुजरात ने 233 रन ठोक डाले थे।

जीत की पटरी पर लौटना चाहेगी गुजरात
चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ खेले गए मैच में गुजरात के लिए कुछ भी सही नहीं रहा था। गेंदबाजों ने दिल खोलकर रन लुटाए थे। राशिद खान 4 ओवर में 49 रन लुटा बैठे थे। वहीं, उमेश यादव को भी जमकर मार पड़ी थी। टीम के बल्लेबाजों का प्रदर्शन भी कुछ खास नहीं रहा था। खुद कप्तान शुभमन गिल सस्ते में पवेलियन लौटे थे, जबकि साहा और डेविड मिलर ने भी निराश किया था।