Tuesday , June 18 2024
Home / MainSlide / जैविक हथियारों का आतंकवाद एक बड़ा खतरा- राजनाथ

जैविक हथियारों का आतंकवाद एक बड़ा खतरा- राजनाथ

नई दिल्ली 12 सितम्बर।रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने कहा है कि जैविक हथियारों का आतंकवाद एक बड़ा ख‍तरा है। उन्‍होंने कहा कि सशस्‍त्र सेनाओं की चिकित्‍सा सेवाओं को इस खतरे से निपटने के लिए आगे आना होगा।

श्री सिंह ने आज यहां शंघाई सहयोग संगठन(एससीओ) के सैन्‍य चिकित्‍सा सम्‍मेलन के उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रहे थे। उन्‍होंने कहा कि युद्ध लड़ने के नये और गैर पारम्‍परिक तरीके हमारे लिए चुनौतियां हैं।श्री सिंह ने कहा कि परमाणु रसायन और जैविक युद्ध इस खतरे में शामिल हैं।

रक्षामंत्री ने कहा कि सशस्‍त्र सेनाओं की चिकित्‍सा सेवाओं को इन चुनौतियों को पहचानना होगा। रक्षामंत्री ने शंघाई सहयोग संगठन के सदस्‍यों को भरोसा दिलाया कि भारत इस क्षेत्र के लोगों के हितों के लिए आगे बढ़कर सहयोग जारी रखेगा।जून 2017 में एससीओ का सदस्‍य बनने के बाद भारत पहली बार सैन्‍य सहयोग सम्‍मेलन आयोजित कर रहा है।