Thursday , February 9 2023
Home / MainSlide / रमन ने टूलकिट मामले में पुलिस की नोटिस पर दिया लिखित जवाब

रमन ने टूलकिट मामले में पुलिस की नोटिस पर दिया लिखित जवाब

रायपुर 24 मई।भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह टूलकिट मामले में अपने खिलाफ दर्ज मामले में पुलिस को दिए लिखित जवाब में ट्विटर एक्सेस देने से इंकार कर दिया है।

डा.सिंह ने राजधानी के सिविल लाइन थाने के प्रभारी को उसके द्वारा जारी नोटिस पर आज दिए लिखित जवाब में पुलिस द्वारा ट्विटर एकाउन्ट की मांगी गई एक्सेस देने से इंकार करते हुए कहा कि.. एक्सेस मांगना विधिक एवं संवैधानिक प्रावधानो का उल्लंघन हैं,उससे मेरे निजता और मौलिक अधिकारों का हनन होगा..।

उऩ्होने 18 मई को किए संदर्भित ट्वीट को अपने विचारो की अभिव्यक्ति करार दिया और कहा कि ऐसे समय में जब राषअट्र कोविड 19 की महामारी से जूझ रहा हैं,तब कांग्रेस पार्टी..कांग्रेस टूल किट..के माध्यम से सुनियोजित प्रचार अभियान चलाकर जनता को दिग्भर्मित कर अराजकता फैलाने का दुष्कृत्य कर रही है।उन्होने कहा कि आधारहीन एफआईआर के माध्यम से मेरे अभिव्यक्ति के अधिकार और मेरी आवाज को दबाने का जो प्रयास किया जा रहा है,वह निहायत ही असंवैधानिक एवं निंदनीय हैं।

डा.सिंह ने अपने जवाब में आगे कहा कि..पुलिस द्वारा जल्दबाजी में दबाववश शिकायतकर्ता का कथन दर्ज किए बगैर एवं उसकी शिकायत की सत्यता को परखे बिना ही प्राथमिकी दर्ज कर लिया गया हैं एवं जिस प्रकार के प्रश्न मुझसे पूछे गए उससे प्रदर्शित होता हैं कि यह पूरी कार्यवाई कांग्रेस पार्टी की झूठी साख को बचाने के लिए पुलिस की शक्तियों का दुरूपयोग कर किया गया है..।प्राथमिकी मुझे व्यक्तिगत रूप से प्रताडित कर डराने और मेरी आवाज को दबाने के लिए दर्ज की गई है।

डा.सिंह इससे पूर्व पुलिस द्वारा उन्हे आज दोपहर साढ़े बजे इस मामले में पूछताछ के लिए घर पर मौजूद रहने की दी गई नोटिस के पहले ही भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष विष्णुदेव साय,भाजपा विधायक दल के नेता धरमलाल कौशिक,पूर्व मंत्री बृजमोहन अग्रवाल एवं राजेश मूणत के साथ पैदल ही सिविल लाइन थाने पहुंच गए और थाने के सामने एक घंटे से भी अधिक समय तक धरना दिया।इस दौरान बहुत बड़ी संख्या में भाजपा के कार्यकर्ता मौजूद थे।

इसके बाद डा.सिंह ने पत्रकारों से बातचीत में आरोप लगाया कि कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी एवं राहुल गांधी के इशारे पर छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल द्वारा उनके खिलाफ तथा भाजपा प्रवक्ता संबित पात्रा के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है।उन्होने कहा कि इस मसले को लेकर भाजपा की जो भी मुहिम चलेगी,वह सामूहिक होगी।उन्होने कहा कि मसले को लेकर न्यायालय भी जायेंगे और प्राथमिकी को शून्य करवायेंगे।