Friday , June 14 2024
Home / MainSlide / वैक्सीन की बर्बादी का स्वास्थ्य मंत्रालय का आरोप हास्यास्पद – भूपेश

वैक्सीन की बर्बादी का स्वास्थ्य मंत्रालय का आरोप हास्यास्पद – भूपेश

रायपुर 27 मई।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने राज्य में 30.2 प्रतिशत वैक्सीन बर्बाद होने के केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के बयान को हास्यास्पद बताते हुए आरोप लगाया हैं कि वैक्सीन को लेकर हर मोर्चे पर मोदी सरकार राजनीति कर रही है।

श्री बघेल ने आज यहां पं.नेहरू शासकीय मेडिकल कालेज में कोरोना का दूसरा टीका लगवाने के बाद पत्रकारों से कहा कि कोविड एप में जो पंजीयन नही करा रहे है,उसको लेकर कहा जा रहा है कि वैक्सीन खऱाब हो गई।उन्होने कहा कि राज्य में 45 वर्ष से ऊपर की वैक्सीन का नुकसान .06 प्रतिशत 18 से 44 वर्ष की वैक्सीन का .08 प्रतिशत नुकसान हुआ है,जोकि गाइडलाइन में आधे से कम है।

उन्होने कहा कि छत्तीसगढ़ ने 18 से 44 वर्ष की वैक्सीन के पंजीयन के लिए ..सीजी टीका..एप बनाया है,उसको स्वास्थ्य मंत्रालय वाले नही मान रहे है।उन्होने कहा कि राज्य में वैक्सीन लगाने का काम बिल्कुल सही ढ़ग से चल रहा है।फ्रंट लाइन वर्कर,हेल्थ वर्कर एवं 45 वर्ष से ऊपर के क्रमशः 100 प्रतिशत,90 प्रतिशत एवं 75 प्रतिशत का टीकाकरण हो चुका है।उन्होने कहा कि वैक्सीन को लेकर गलतबयानी करना और भ्रामक जानकारी देना कतई उचित नही है।

श्री बघेल ने कहा कि 18 से 44 आयु वर्ग के लिए वैक्सीन की पर्याप्त आपूर्ति नही है।भारत सरकार वैक्सीन उपलब्ध नही करवा पा रही है।फिर भी जितनी भी वैक्सीन मिल रही है,उतना लग रही है।उन्होने राज्य में कोरोना संक्रमण की स्थिति में सुधार पर सन्तोष व्यक्त करते हुए कहा कि राज्य में पाजिटिवी दर पांच प्रतिशत से नीचे आ गई है।उन्होने कहा कि बाजार आदि खुल गए है इस कारण हम सभी की जिम्मेदारी है कि कोरोना प्रोटोकाल का पूरी तरह से पालन करे।