Wednesday , September 27 2023
Home / राजनीति / दिल्ली में 26 हज़ार करोड़ का घोटाला, जानें पूरा मामला

दिल्ली में 26 हज़ार करोड़ का घोटाला, जानें पूरा मामला

दिल्ली की अरविंद केजरीवाल सरकार में मंत्री सत्येंद्र जैन के बाद अब उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया पर भी गिरफ़्तारी की तलवार लटक रही है। भाजपा के लोकसभा सांसद मनोज तिवारी ने कहा है कि दिल्ली का एक मंत्री बीते एक महीने से जेल में है। इस देश के कई प्रदेशों में ऐसी घटनाएं सामने आई हैं, जहां नेता भ्रष्टाचारी निकले हैं। उन्होंने कहा कि जहां नेता भ्रष्टाचारी निकले हैं, वहां दोषी नेताओं को हटा दिया गया है, मगर दिल्ली के CM अरविंद केजरीवाल सबकुछ जानते हुए भी सत्येंद्र जैन को हटा नहीं रहे हैं।

मनोज तिवारी ने आगे कहा कि पुरानी आबकारी नीति को वापस लागू करना इस बात की तरफ इशारा है कि केजरीवाल एंड कंपनी जेल जाने से डरती है। मनोज तिवारी ने कहा कि लोकायुक्त ने इस पूरे मामले को गंभीरता से लेते हुए दिल्ली के प्रमुख सचिव से 26 हजार के घोटाले की रिपोर्ट देने के लिए कहा है। तिवारी ने कहा कि मनीष सिसोदिया आपको जेल जाना ही होगा। वहीं, बीजेपी नेता प्रवेश वर्मा ने कहा कि 29 जुलाई का दिन केजरीवाल को पूरी जिंदगी याद रहेगा। AAP सरकार ने दिल्ली की जनता का विश्वास तोड़ा है

बता दें कि लोकायुक्त ने क्लास रूम घोटाले और ओल्ड एक्साइज पॉलिसी मामले में जांच के आदेश दिए हैं। भाजपा के दोनों सांसदों ने आरोप लगाते हुए कहा है कि क्लास रूम घोटाले में में 3 करोड़ के स्थान पर 10 करोड़ रुपए दिए गए। वहीं उन्होंने कहा कि जब लोग कोरोना से मर रहे थे, उस समय दिल्ली के CM शराब नीति बना रहे थे। दिल्ली सरकार कोरोना काल में भी इस पर काम कर रही थी कि किस तरह घर-घर शराब पहुंचाई जाए।

भाजपा नेताओं ने कहा कि प्रत्येक जोन के आदमी से 20 लाख नकद लिया गया। उन्होंने कहा कि अब  सरकार वापस पुरानी आबकारी पॉलिसी ले आई है। पुरानी पॉलिसी को वापस लाना हमारी जीत है। मनोज तिवारी ने तंज कसते हुए कहा कि अरविंद केजरीवाल को अपनी बहन ममता बनर्जी से कुछ सीख लेना चाहिए। उन्होंने कहा अभी देर नहीं हुई है। सतेंद्र जैन को मंत्री पद से हटा दिया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि मनीष सिसोदिया और सतेंद्र जैन को बर्खास्त कर दिया जाना चाहिए।