Monday , January 30 2023
Home / छत्तीसगढ़ / आतिशबाजी के चलते दुकान में लगी आग, लगभग छह लाख का हुआ नुकसान..

आतिशबाजी के चलते दुकान में लगी आग, लगभग छह लाख का हुआ नुकसान..

शहर के खरसिया रोड स्थित डिस्पोजल दोना-पत्तल सामग्री की दुकान में सोमवार रात भीषण आग लग गई। दुकान में आग इतनी तेजी से फैली कि देखते ही देखते वहां रखा लाखों का सामान जलकर खाक हो गया। आग लगने की सूचना के बावजूद एक घंटे बाद दमकल वाहन वहां पहुंचा। घंटों मशक्कत के बाद आग पर काबू पाया जा सका। आग लगने की घटना में लगभग छह लाख का नुकसान दुकान संचालक को हुआ है। बताया जा रहा है कि जिस जगह पर आग लगी उसके सामने रोड से उस वक्त बारात गुजर रही थी। इस दौरान आतिशबाजी हो रही थी।

आशंका जताई जा रही है कि इस दौरान राकेट या किसी पटाखे से निकली चिंगारी उस दुकान तक पहुंची और वहां आग लग गई। शहर के खरसिया रोड में बसंत टॉकीज के सामने स्थित महामाया इंटरप्राइजेज के संचालक अनिल अग्रवाल के अनुसार सोमवार रात करीब आठ बजे वे दुकान बंद कर अपने घर चले गए थे। इस दौरान खरसिया रोड में बारात निकल रही थी। रात करीब पौने नौ बजे उन्हें अपनी दुकान में आग लगने की सूचना मिली। आसपास के लोगों ने दमकल विभाग को भी आग लगने की जानकारी दे दी।

दुकान संचालक भी मौके पर पहुंचे लेकिन इस दौरान आग पूरे दुकान में फैल चुकी थी। करीब एक घंटे विलंब से दमकल वाहन पहुंचा लेकिन तब तक आग से वहां रखा पूरा सामान जल चुका था। तीन घंटे की मशक्कत के बाद दमकल कर्मियों ने दुकान में लगी आग बुझा ली। दुकान संचालक के अनुसार दो बड़े कमरों में डिस्पोजल दोना, पत्तल, गिलास, कटोरी सहित अन्य सामान रखा हुआ था जो आग से पूरी तरह जल गया।

आतिशबाजी के कारण बीते साल भी लगी थी आग सोमवार रात खरसिया रोड की दुकान में आग लगने की घटना को आतिशबाजी से जोड़कर देखा जा रहा है। दुकान के ऊपर लोहे की शीट लगी थी जिस पर तिरपाल ढंकी थी। आशंका जताई जा रही है कि चिंगारी से पहले तिरपाल में आग लगी और उसके बाद दुकान और उसके अंदर भीतर एक बड़े गोदाम में आग पहुंच गई। बता दें कि पिछले साल इसी मार्ग में आतिशबाजी के कारण एक लकड़ी मिल में भीषण आग लगी थी और लाखों की लकड़ी जल गई थी। खरसिया मार्ग में कई होटल और शादी घर है जहां शादी के सीजन में बारात निकलती है और आतिशबाजी होती है। इससे दुकानदारों के अलावा रहवासियों के जीवन पर भी खतरा मंडराता रहता है।

दमकल विभाग की व्यवस्था पर उठे सवाल

आसपास के लोगों और दुकान संचालक के अनुसार रात में आग लगने के बाद दमकल विभाग को सूचना दे दी गई थी लेकिन एक घंटे विलंब से वाहन पहुंचा। दो दमकल वाहन में तो पानी भी नहीं था। इस दौरान आग भीषण रूप ले चुकी थी।तीसरा दमकल वाहन जो पहुंचा उसमें पहले से ही पानी बह रहा था, इस कारण भी आग बुझाने में दिक्कत हुई और आग तेजी से फैल गई। दुकान संचालक के अनुसार छोटी सी दुकान में लगी आग को बुझाने में दमकल विभाग पूरी तरह नाकाम रहा। इससे विभाग की कार्यशैली और उसकी व्यवस्था पर सवाल उठ रहे हैं।