Friday , May 24 2024
Home / देश-विदेश / रूस की प्राइवेट आर्मी सैनिक अब करेंगी यूक्रेन का घेराव…

रूस की प्राइवेट आर्मी सैनिक अब करेंगी यूक्रेन का घेराव…

रूस-यूक्रेन युद्ध एक साल बाद भी रुकने का नाम नहीं ले रहा है। रूसी सेना लगातार हवाई हमले कर यूक्रेन के कई शहरों को अपने कब्जे में लेने का काम कर रही है। इस बीच रूस की निजी सैन्य कंपनी ‘वैगनर ग्रुप’ जो इस जंग में बड़ा रोल निभा रही है, उसने यूक्रेन के बखमुत के बड़े क्षेत्र पर अपना कब्जा होने का दावा किया है। इसी के साथ वैगनर ने अपने सैनिकों की संख्या बढ़ाने का भी एलान कर दिया है। बता दें कि वैगनर ग्रुप रूस की प्राइवेट सेना है, जिसने यूक्रेन में तबाही ला रखी है।

वैगनर 42 शहरों में खोलेगा भर्ती केंद्र

रूस की प्राइवेट आर्मी यानी वैगनर ग्रुप यूक्रेन के कई हिस्सों पर अपना कब्जा जमा चुकी है। वहीं, यूक्रेन को जंग में हराने के लिए अब वैगनर के प्रमुख येवगेनी प्रिगोझिन ने रूस के 42 शहरों में भर्ती केंद्र खोलने की घोषणा की। वैगनर बखमुत सहित पूर्वी यूक्रेन के शहरों के खिलाफ हमलों की अगुआई कर रहा है। बखमुत में ही रूस ने सबसे लंबी और सबसे खूनी लड़ाई लड़ी है।

मार्शल आर्ट क्लबों से सैनिकों की भर्ती

येवगेनी प्रिगोझिन ने भर्ती को लेकर कहा कि यूक्रेन को हराने के लिए हम अब तेजी से आगे बढ़ेंगे और इसके लिए खेल केंद्रों और मार्शल आर्ट क्लबों से सैनिकों को भर्ती किया जाएगा। 61 वर्षीय पुतिन समर्थक येवगेनी ने कहा कि यूक्रेनी सशस्त्र बलों के भारी प्रतिरोध के बावजूद, हम आगे बढ़ेंगे।

Prigozhin और रक्षा मंत्रालय में तनाव

बता दें कि Prigozhin और रूसी रक्षा मंत्रालय के बीच महीनों से तनाव बना हुआ है और यह लगातार बिगड़ता जा रहा है क्योंकि Prigozhin ने रूस के शीर्ष अधिकारियों की कई मौकों पर आलोचना की है। प्रिगोझिन हमेशा से यह भी कहते आए हैं कि वे सेना से बेहतर जंग लड़ रहे हैं।

कैदियों की सेना में हो रही भर्ती

सेना पर वैगनर ग्रुप ने गोला-बारूद साझा नहीं करने का भी आरोप लगाया है। पुतिन के करीबी होने के चलते प्रिगोझिन पर अपनी मनमानी करने और रूसी कानूनों को ताक पर रखने की बात सामने आई है। प्रिगोझिन महीनों से वैगनर से लड़ने के लिए जेल के कैदियों की भर्ती कर रहा है और उनसे रूस लौटने पर सजा कम करने का वादा कर रहा है।