Sunday , May 19 2024
Home / देश-विदेश / जानें पापमोचनी एकादशी वर्त का महत्व…

जानें पापमोचनी एकादशी वर्त का महत्व…

पंचांग के अनुसार, चैत्र मास के कृष्ण पक्ष की एकादशी को पापमोचनी एकादशी के नाम से जानते हैं। इस दिन भगवान विष्णु की विधिवत पूजा करने के साथ व्रत रखने का विधान है। शास्त्रों के अनुसार, पापमोचनी एकादशी के दिन पूजा करने से व्यक्ति को हर तरह के पापों से मुक्ति मिल जाती है। इसके साथ ही हर तरह के कष्टों से छुटकारा मिल जाता है। इस साल पापमोचनी एकादशी का व्रत 18 मार्च 2023 को रखा जा रहा है। ज्योतिष शास्त्र के अनुसार, पापमोचनी एकादशी के दिन विष्णु जी की पूजा करने के साथ कुछ उपाय करना लाभकारी होगा। जानिए पापमोचनी एकादशी के दिन कौन से उपाय करना होगा शुभ।

पापमोचनी एकादशी 2023 मुहूर्त

चैत्र कृष्ण एकादशी तिथि आरंभ – 17 मार्च 2023 को रात 02 बजकर 06 मिनट से शुरू चैत्र कृष्ण एकादशी तिथि समाप्त – 18 मार्च 2023 को सुबह 11 बजकर 13 मिनट कर व्रत पारण समय – 19 मार्च 2023 को सुबह 06 बजकर 27 मिनट से 08 बजकर 07 मिनट तक

पापमोचनी एकादशी पर करें ये खास उपाय

नई नौकरी की तलाश कर रहे हैं या फिर प्रमोशन चाहते हैं, तो एकादशी के दिन एक कच्चा नारियल और आठ बादाम लेकर भगवान विष्णु के मंदिर में जाकर चढ़ा दें। इसके साथ ही अपनी कामना कह दें। इस मंत्र का करें जाप पापमोचनी एकादशी के दिन विधिवत तरीके से भगवान विष्णु की पूजा करने के साथ-साथ चालीसा और इस मंत्र का जाप करें। कोशिश करें इस मंत्र का जाप तुलसी की माला से करें।