Tuesday , March 5 2024
Home / MainSlide / संकट में सांस: दिल्ली की हवा बेहद खराब श्रेणी में

संकट में सांस: दिल्ली की हवा बेहद खराब श्रेणी में

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में मौसम के करवट लेने के बावजूद हवा बेहद खराब श्रेणी में बरकरार है। अधिकतर इलाकों में आबोहवा बेहद खराब श्रेणी में पहुंच गई है। शुक्रवार को एक बार फिर एनसीआर में दिल्ली की हवा सर्वाधिक प्रदूषित रही। दिल्ली का वायु गुणवत्ता सूचकांक (एक्यूआई) 324 दर्ज किया गया, जोकि बेहद खराब श्रेणी है। इसमें गुरुवार के मुकाबले चार सूचकांक की वृद्धि देखने को मिली है। 

दिल्ली के बाद ग्रेटर नोएडा की हवा सर्वाधिक प्रदूषित रही। सुबह से हल्की धुंध के साथ कोहरा छाया रहा। 28 इलाकों में हवा बेहद खराब और आठ इलाकों में हवा खराब श्रेणी में रही। दिल्ली में हवा समग्र रूप से बेहद खराब श्रेणी में बनी रही। कमोबेश यही स्थिति सोमवार तक बने रहने का अनुमान है।

भारतीय उष्णदेशीय मौसम विज्ञान संस्थान (आईआईटीएम) के मुताबिक शुक्रवार को हवा उत्तर-पश्चिम दिशा की ओर से चली। इस दौरान हवा की गति आठ से 12 किलोमीटर प्रतिघंटे रही। शनिवार को हवा उत्तर-पश्चिम दिशा से चलने का अनुमान है। वहीं, हवा की गति 12 से 15 किलोमीटर प्रतिघंटे रहने के आसार है। सुबह के समय धुंध व कोहरा छाए रहने की आशंका है। ऐसे में हवा बेहद खराब श्रेणी में बनी रहेगी। 

रविवार को हवा उत्तर-पश्चिम दिशा की ओर से चलेगी। इस दौरान हवा की चाल आठ से 15 किलोमीटर प्रतिघंटे रहने का अनुमान है। सोमवार को हवा पश्चिम दिशा से चलने की आशंका है। इस दौरान हवा की गति छह से छह किलोमीटर प्रति घंटे रहने की उम्मीद है।

जेएनएल में सर्वाधिक रही प्रदूषित हवा
केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड (सीपीसीबी) के मुताबिक दिल्ली में शुक्रवार को 28 इलाकों में हवा बेहद खराब श्रेणी में दर्ज की गई। इनमें जेएलएन में 386, जहांगीरपुरी में 373, नरेला व बवाना में 372, अलीपुर में 370, विवेक विहार में 363 व वजीरपुर में 362 सूचकांक दर्ज किया गया। साथ ही, आठ इलाकों में हवा खराब श्रेणी में दर्ज की गई। यहां ओखला फेस 2 में 300, सीरोफोर्ट में 295, श्री अरबिंदो मार्ग में 294, नजफगढ़ में 287, आईजीआई एयरपोर्ट टर्मिनल 2 में 283 व मथुरा रोड़ में 241 सूचकांक दर्ज किया गया, जोकि खराब श्रेणी है। सीपीसीबी के अनुसार फरीदाबाद में 261, गाजियाबाद में 275, नोएडा में 253, ग्रेटर नोएडा में 294 व गुरुग्राम में 242 एक्यूआई दर्ज किया गया।