Monday , July 15 2024
Home / छत्तीसगढ़ / सीएम साय और गृहमंत्री शर्मा ने वीरगति प्राप्त जवान को दिया कांधा

सीएम साय और गृहमंत्री शर्मा ने वीरगति प्राप्त जवान को दिया कांधा

छत्तीसगढ़ के सीएम विष्णुदेव साय और गृहमंत्री विजय शर्मा ने बीते दिनों नारायणपुर के ओरछा में नक्सलियों से लोहा लेते हुए वीरगति को प्राप्त जवान आरक्षक नितेश एक्का के पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर विनम्र श्रद्धांजलि दी।

छत्तीसगढ़ के सीएम विष्णुदेव साय और गृहमंत्री विजय शर्मा ने बीते दिनों नारायणपुर के ओरछा में नक्सलियों से लोहा लेते हुए वीरगति को प्राप्त जवान आरक्षक नितेश एक्का के पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर विनम्र श्रद्धांजलि दी। राजधानी रायपुर के माना स्थित चौथी बटालियन पहुंचकर जवान के पार्थिव शरीर को कांधा दिया। सीएम ने मीडिया से चर्चा में कहा कि यह शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी। हम नक्सलियों का खात्मा होने तक चुप नहीं बैठेंगे।

नारायणपुर के ओरछा में नक्सलियों से लोहा लेते हुए जशपुर की माटी के लाल आरक्षक नितेश एक्का वीरगति को प्राप्त हो गये थे। जिनका के पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर अपनी विनम्र श्रद्धांजलि दी और पार्थिव शरीर को कांधा दिया।

इसके बाद सीएम ने राजधानी रायपुर के रामकृष्ण हॉस्पिटल पहुंचकर नारायणपुर में नक्सलियों से मुठभेड़ के दौरान घायल हुए जवानों से मुलाकात की और उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी ली। चिकित्सकों ने बताया कि जवानों की सेहत में तेजी से सुधार हो रहा है।

सीएम ने मीडिया से चर्चा में कहा कि जवानों की शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी। हम नक्सलियों का खात्मा होने तक चुप नहीं बैठेंगे। इसके बाद सीएम लगातार दो ट्वीट कर लिखा कि ‘नारायणपुर जिले के ओरछा थाना अंतर्गत फरसबेड़ा-धुरबेड़ा के बीच सुरक्षाबलों और नक्सलियों में हुई मुठभेड़ में जशपुर के ग्राम चराईडांड़ के लाल जवान नितेश एक्का की शहादत की सूचना प्राप्त हुई है। जशपुर की माटी के लाल की शहादत अपने कर्तव्यों को निभाते हुए हुई है। शहीद जवान नितेश एक्का को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए परमेश्वर से प्रार्थना करता हूँ कि उनके परिजनों को यह वज्रपात सहन करने की शक्ति प्रदान करें।’

दूसरे ट्वीट में सीएम ने लिखा कि ‘राजधानी रायपुर के माना कैंप पहुंचकर नारायणपुर के ओरछा में नक्सलियों से लोहा लेते हुए शहीद हुए जशपुर की माटी के लाल शहीद आरक्षक नितेश एक्का जी के पार्थिव शरीर पर पुष्प अर्पित कर अपनी विनम्र श्रद्धांजलि दी और पार्थिव शरीर को कांधा दिया। यह शहादत व्यर्थ नहीं जाएगी, हम नक्सलियों का खात्मा होने तक चुप नहीं बैठेंगे।