Sunday , March 26 2023
Home / MainSlide / देश में लोकतंत्र की रक्षा के लिए बहुत कुछ करना बाकी – व्यास

देश में लोकतंत्र की रक्षा के लिए बहुत कुछ करना बाकी – व्यास

रायपुर 26 जून।राज्यसभा के पूर्व सांसद गोपाल व्यास जी ने कहा लोकतंत्र सेनानियों का संघर्ष कभी व्यर्थ नहीं जायेगा।

श्री व्यास ने भाजपा द्वारा लोकतंत्र सेनानियों के सम्मान के लिए आयोजित कार्यक्रम में आज कहा कि हमने उस वक्त जो संघर्ष लोकतंत्र की रक्षा के लिए किया था हमें खुशी है कि आज देश में राष्ट्रवाद के विषय को लेकर जिन लोगों ने चुनाव लड़ा वे लोग आज देश का नेतृत्व कर रहे हैं। इस बात की हम सेनानियों को बेहद खुशी है। परंतु देश के अंदर अभी भी राष्ट्र विरोधी तत्व घुसे हुए हैं। इस दिशा में भी काम करने की जरूरत है।

सम्मान समारोह को संबोधित करते हुए भाजपा राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने आपातकाल के समय को याद करते हुए कहा कि हमारे अनेक साथी उस दौरान जेल में बंद थे। अनिश्चय की स्थिति थी।जेल में बंद लोगों को लगता था कभी हम जेल से छुट पायेंगे भी की नहीं। तभी जयप्रकाश नारायण जैसे नेता खुलकर सामने आये और देश में तानाशाहों के विरूद्ध आवाज बुलंद किया। देश भर में श्रीमती गांधी द्वारा लगाये गये आपातकाल के विरूद्ध बच्चे, बूढ़े जवान, माताएं, बहनें, सड़क पर निकल पड़ीं।

उन्होने कहा कि सभी राष्ट्रवादी नेताओं को जेल में डाल दिया गया था। तब श्रीमती गांधी को ऐसा लगा कि सारे नेता तो जेल में हैं और इस परिस्थिति में चुनाव करा दिया जाये तो उनके पक्ष में परिणाम आ जायेंगे। परंतु इस देश की जागरुक जनता ने तानाशाही को पछाड़ते हुए राष्ट्रवादी नेताओं को जो जेल के अंदर से ही चुनाव लड़ रहे थे ऐसे लोगों को भी जिता दिया। और राष्ट्रवादी पार्टी सत्ता में आ गई। उस समय श्रीमती इंदिरा गांधी और संजय गांधी चुनाव हार गये। ये देश के लोकतंत्र को दर्शाता है कि हमारे देश में लोकतंत्र की जड़ें कितनी मजबूत हैं।