Saturday , March 2 2024
Home / MainSlide / विमान एवं ट्रेन यात्रियों को 14 दिन किया जाय अनिवार्य रूप से क्वारेंटाइन-भूपेश

विमान एवं ट्रेन यात्रियों को 14 दिन किया जाय अनिवार्य रूप से क्वारेंटाइन-भूपेश

रायपुर 23 मई।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केन्द्रीय विमानन मंत्री एवं केन्द्रीय रेल मंत्री को अलग-अलग पत्र लिखकर विमान एवं ट्रेन यात्रियों के 14 दिन क्वारेंटाइन को अनिवार्य किए जाने का आग्रह किया है।

श्री बघेल ने आज केन्द्रीय विमानन मंत्री हरदीप सिंह पुरी को लिखे पत्र में कहा है कि घरेलू उड़ान शुरू करने से संक्रमण फैलने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा है कि नागरिक उड्यन मंत्रालय को प्रभावी उपायों एवं दिशा निर्देशों अंतर्गत ही उड़ान संचालन प्रारंभ करना चाहिए। राज्यों को प्रत्येक उड़ान की जानकारी और यात्रियों का विस्तृत विवरण उपलब्ध कराया जाना चाहिए। हवाई यात्रा करने वालों को 14 दिन कोरेन्टाईन केवल राज्य सरकार द्वारा संचालित एवं पेड कोरेन्टाईन पर रहना अनिवार्य किया जाए और टिकट बुक करते समय ही इसकी जानकारी यात्रियों को दी जाए।

उन्होने श्री पुरी से आग्रह किया कि राज्यों को प्रत्येक उड़ानों की जानकारी उपलब्ध करायी जाए, जिसमें उस राज्य में आने वाले यात्रियों का विस्तृत विवरण सम्मिलित हो। हवाई यात्रा करने वाले सभी यात्रियों की 14 दिन कोरेन्टाईन (केवल राज्य सरकार द्वारा संचालित एवं पेड कोरेन्टाईन) पर रहने को अनिवार्य किया जावे। कोरेन्टाईन संबंधी शर्त एवं अनिवार्यता की जानकारी यात्रियों को टिकट बुक करने के समय ही प्रदान की जाए ताकि वे नियमों से भलीभांति परिचित रहें।

श्री बघेल ने रेल मंत्री पीयूष गोयल को लिखे पत्र में कहा है कि एक जून से शुरू हो रही यात्री ट्रेने श्रमिक स्पेशल ट्रेन की भांति ट्रेनें प्वाइंट टू प्वाइंट अर्थात स्टेट टू स्टेट चलाई जाए।यात्रियों का एक-दूसरे से सम्पर्क नियंत्रित करने अधिकतम दो स्टापेज रखे जाए और सोशल डिस्टेंसिंग की दृष्टिकोण से यात्रियों की संख्या निर्धारित क्षमता से कम रखी जाए।

उन्होने पत्र में कहा है कि केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय एवं गृह मंत्रालय द्वारा समय-समय पर जारी दिशा निर्देशों के अनुसार गन्तव्य पर पहुंचने के पश्चात ट्रेन में सफर करने वाले नागरिकों की स्क्रीनिंग, क्वारेंटाइन, यातायात आदि का प्रबंधन राज्यों के लिए चुनौतीपूर्ण कार्य है। अतएव ट्रेन छूटने के तत्काल बाद यात्रा करने वाले नागरिकों की सूची, मोबाइल नम्बर, आधार नम्बर, पता इत्यादि विस्तृत विवरण राज्यों को उपलब्ध कराना सुनिश्चित करें, ताकि राज्य सरकारों द्वारा आवश्यक व्यवस्था किया जा सकें। ट्रेन से आने वाले सभी नागरिकों को 14 दिन के क्वारेंटाइन में रहना अनिवार्य किया जाए।