Saturday , June 22 2024
Home / MainSlide / यूरिया एवं डीएपी के साथ वर्मी खाद खरीदने की शर्त पर रमन ने जताया ऐतराज

यूरिया एवं डीएपी के साथ वर्मी खाद खरीदने की शर्त पर रमन ने जताया ऐतराज

रायपुर 02 जुलाई।भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष एवं छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने सहकारी समितियों में दो बोरी वर्मी खाद ख़रीदने की शर्त पर किसानों को यूरिया एवं डीएपी खाद देने की ख़बरों पर ऐतराज जताया है।

डॉ.सिंह ने आज यहां जारी व्यक्तव्य में कहा कि जिस प्रदेश सरकार ने गोबर ख़रीदी योजना को ज़रूरत से ज़्यादा हाईलाइट किया और उसमें अपनी वाहवाही लूटने का प्रयास किया।इस सरकार का दो रुपए में गोबर ख़रीदकर अब उसे 10 रुपए प्रति किलो की दर पर किसानों को ख़रीदने के लिए बाध्य करना किसानों के साथ खुला अन्याय है।

उऩ्होने कहा कि प्रदेश सरकार वर्मी खाद ख़रीदने के प्रेरित भले ही करे, परंतु कर्ज़ में खाद लेने वाले  किसानों को वर्मी खाद लेने के लिए बाध्य करना अनुचित है। खेतों में गोबर या गोबर की खाद किसान डालें, हम उसके विरोधी नहीं हैं, लेकिन प्रदेश सरकार किसानों को यह ख़रीदने के लिए बाध्य कैसे कर सकती है ? उन्होने कहा कि गोबर खरीद को लेकर भाजपा शुरू में ही दावे के साथ कहा था कि प्रदेश सरकार किसानों की एक जेब में नाममात्र के रुपए डालकर दूसरी जेब पर डाका डालने का काम करेगी।

डॉ.सिंह ने कहा कि प्रदेश के अधिकांश गौठानों में या तो गोबर की ख़रीदी सही ढंग से हुई नहीं है या फिर ख़रीदी गया गोबर बारिश के चलते बह गया है।अब प्रदेश सरकार यह स्पष्ट करे कि जो गोबर खाद प्रदेश सरकार किसानों को दे रही है, क्या वह प्रदेश सरकार द्वारा ख़रीदे गए गोबर से बनी हुई है या बाहर से खाद लाकर उसे किसानों ज़बरिया बेचने का धंधा यह सरकार कर रही है ?