Thursday , December 1 2022
Home / MainSlide / हिंद-प्रशांत क्षेत्र में सुरक्षा चुनौतियां में लगातार हो रहा हैं इजाफा

हिंद-प्रशांत क्षेत्र में सुरक्षा चुनौतियां में लगातार हो रहा हैं इजाफा

कोलकाता 15 जुलाई।रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि हिंद महासागर और हिंद-प्रशांत क्षेत्र में सुरक्षा चुनौतियां लगातार बढ़ रही हैं।

श्री सिंह ने आज यहां वाई-3023 दूनागिरी, प्रोजेक्ट 17-ए स्वदेशी युद्ध पोत का जलावतरण करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री के ‘सागर’ यानी क्षेत्र में सभी के लिए सुरक्षा और विकास’ और भारत के समुद्री हितों की रक्षा, संरक्षण और बढ़ावा देने की परिकल्पना पूरा करने के लिए,  भारतीय नौसेना, भारतीय तटरक्षक बल और अन्य संगठनों को बुनियादी ढांचे में सुधार करना होगा।

रक्षा मंत्री ने युद्ध पोत निर्माण में आत्मनिर्भरता की परिकल्पना को साकार करने में नौसेना डिजाइन निदेशालय और अन्य नौसेना टीमों के प्रयासों की प्रशंसा की।उन्होंने विभिन्न चुनौतियों के बावजूद पोत निर्माण के क्षेत्र में जीआरएसई की निरंतर सहायता के लिए भी सराहना की। उन्होने कहा कि ‘दूनागिरी’ समुद्र, आकाश और पानी के भीतर सुरक्षा करने के लिए बहुआयामी क्षमताओं वाला विश्व स्तरीय युद्ध पोत होगा। इस युद्ध पोत में बेहतर सुरक्षा उपकरण, उन्नत हथियार और सेंसर प्रणाली मौजूद हैं।