Saturday , December 3 2022
Home / जीवनशैली / जानें सपने में भोलेनाथ का दर्शन होने का महत्व

जानें सपने में भोलेनाथ का दर्शन होने का महत्व

सोते समय सपना आना आम बात हैं, लेकिन इस सपने में आप क्या देख रहे हैं इसका आपके जीवन से बहुत बड़ा महत्व जुड़ा हुआ हैं। जी हां, स्वप्न शास्त्र के मुताबिक आपके द्वारा देखे गए सपने आपके जीवन में कई बदलाव ला सकते हैं। आज इस कड़ी में हम बात करने जा रहे हैं सपने में शिव या उनसे जुड़ी चीजों के दिखने से आपके जीवन पर पड़ने वाले प्रभाव के बारे में। खासतौर से सावन के इस महीने में शिव का सपनों में दिखना आपके लिए बेहद फलदायी साबित होता हैं। तो आइये जानते हैं शिव के कौनसे रूप या किस चीज को सपने में देखने से जीवन पर क्या प्रभाव पड़ता हैं।

सपने में भोलेनाथ के दर्शन होना

कई बार लोगों को सपने में भगवान भोलेनाथ के दर्शन होते हैं। अगर आपको भी सपने में भगवान शिव के दर्शन हो तो समझ लीजिए कि आपके अच्छे दिन की शुरुआत हो चुकी है और आपकी कोई मनोकामना पूरी होने वाली है। आप भगवान भोलेनाथ के मंदिर जानकर उनकी पूजा अर्चना करें।

भोलेनाथ का तांडव रूप दिखना

स्वप्न शास्त्र के अनुसार, अगर कभी सपने में आपको भोलेनाथ तांडव करते हुए द‍िखाई दें। तो यह कतई न समझें क‍ि वह आपसे नाराज हैं या फ‍िर जीवन में मुसीबतें आने वाली हैं बल्कि यह रूप आप सपने में तब देखते हैं जब आप शत्रुओं से घिरे हुए होते हैं। मान्‍यता है क‍ि इस सपने के जर‍िए भोलेनाथ अपने भक्‍तों को यह संदेश देते हैं क‍ि उनके शत्रुओं का नाश वह स्‍वयं ही और अत‍िशीघ्र करेंगे।

शिवलिंग दिखना

अगर आप सपने में शिवलिंग देखते हैं तो ये आपके लिए शुभ संकेत है। इस सपने का अर्थ है कि आप पिछले जन्म में भगवान शिव के भक्त थे। अब आपकी सभी समस्याओं के खत्म होने का वक्त आ गया है। आपको जल्द ही तरक्की होने वाली है और यश मिलने वाला है।

श‍िव मंद‍िर दिखना

अगर कभी सपने में आपको श‍िव मंद‍िर द‍िखाई दे। या फ‍िर आप यह देखें क‍ि आप क‍िसी श‍िव मंद‍िर जा रहे हैं तो समझ लें क‍ि यह अत्‍यंत ही शुभ संकेत है। मान्‍यता है क‍ि यह सपना इस बात की ओर इशारा करता है क‍ि आप ज‍िन गंभीर परेशान‍ियों या फ‍िर बीमार‍ियों से जूझ रहे हैं जल्‍दी ही आपको उनसे राहत म‍िलने वाली है।

शिवजी की जटाओं का चांद दिखना

वहीं यदि शिव जी के स्वरूप की बात करें तो उनकी जटाओं में चांद दिखाई देता है। यह चांद ज्ञान का प्रतीक माना जाता है। तो यदि सपने में आपको शिवजी का चांद दिखाई दे तो यह आपको ज्ञान संबंधी कार्यों से जोड़ता है। संभव है कि जल्द ही आपको कोई बहुत बड़ा फैसला लेना पड़े। ये फैसला शादी-ब्याह, शिक्षा आदि से संबंधित हो सकता है। यदि आप किसी परीक्षा की तैयारी कर रहे हैं और ऐसा सपना दिखे तो समझ जाएं कि यह सफलता का ही संकेत है।

भोलेनाथ और माता पार्वती को साथ देखना

अगर कभी आपको भोलेनाथ और माता पार्वतीजी सपने में एक साथ द‍िखाई दें। तो समझ लें आपको उनकी व‍िशेष कृपा प्राप्‍त हुई है। मान्‍यता है क‍ि यह सपना दांपत्‍य जीवन में मची कलह और दूर‍ियों के खत्‍म होने का संकेत होता है। लेक‍िन ध्‍यान रखें क‍ि जब भी यह सपना देखें तो भोलेनाथ और माता पार्वती का जलाभिषेक जरूर करें। इसके बाद उन्‍हें शहद अर्पित करके सुखी दांपत्‍य जीवन की प्रार्थना करें।

अर्धनारीश्वर प्रतिमा दिखना

यदि सपने में भगवान शिव और पार्वती की अर्धनारीश्वर वाली प्रतिमा या मूर्ति दिखाई दे तो मानें कि आपको जल्द ही नए अवसर मिलने वाले हैं। आपको जल्द ही धन-संपदा से संबंधित शुभ समाचार मिल सकते है।

सांप और त्रिशूल दिखना

स्वप्न शास्त्र के अनुसार, अगर कभी भी आपको सपने में सांप और त्रिशूल द‍िखाई दे तो समझ‍िए बस आपको लाभ ही लाभ होने वाला है। मान्‍यता है क‍ि जब कभी भी सपने में सांप द‍िखाई दे तो यह तत्काल आर्थिक लाभ का संकेत होता है। वहीं सपने में त्रिशूल द‍िखे तो समझ लें क‍ि आपके सभी संकटों का नाश होने वाला है। मान्‍यता है क‍ि त्रिशूल जीवन के हर संकट का नाश करता है और कठ‍िन से कठ‍िन पर‍िस्थिति से न‍िपटने का साहस प्रदान करता है।

शिवजी की तीसरी आंख दिखना

वहीं शिव जी की तीसरी आंख सतर्कता और जागरूकता के विषय में बताती है। सपने में शिव की तीसरी आंख के दर्शन आपको जीवन में कुछ महत्वपूर्ण बदलाव का संकेत देती है।