Friday , February 23 2024
Home / MainSlide / छत्तीसगढ़: जमीन के रिकॉर्ड डिजिटल करने में बना नंबर वन

छत्तीसगढ़: जमीन के रिकॉर्ड डिजिटल करने में बना नंबर वन

छत्तीसगढ़ में डिजिटल भू-अभिलेख डाटाबेस में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत आर्थिक फसल बीमा पोर्टलों का एकीकरण बहुत कम समय में किया गया. इस उपलब्धि के लिए भारत सरकार के कृषि एवं कृषक कल्याण मंत्रालय ने छत्तीसगढ़ को उत्कृष्ट पुरस्कार प्रदान किया

भारत सरकार ने दिया पुरस्कार

केरल के कोच्चि में 19 और 20 अक्टूबर 2022 को आठवीं राष्ट्रीय अधिवेशन का आयोजन किया जा रहा है. अधिवेशन के पहले दिन छत्तीसगढ़ को उत्कृष्ट पुरस्कार प्रदान किया गया. यह पुरस्कार भारत सरकार की महत्वाकांक्षी योजना प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत खरीफ वर्ष 2022 से राष्ट्रीय फसल बीमा पोर्टल का एकीकरण सफलतापूर्वक पूर्ण करने पर दिया गया.

छत्तीसगढ़ की ओर से उत्कृष्ट पुरस्कार को विशेष सचिव और संचालक कृषि छत्तीसगढ़ सरकार डॉ. अय्याज फकीर तम्बोली और संयुक्त संचालक कृषि, संचालनालय कृषि छत्तीसगढ़ बीके मिश्रा ने ग्रहण किया.

जमीन रिकॉर्ड डिजिटलीकरण के लिए मिला पुरस्कार

राष्ट्रीय फसल बीमा पोर्टल का एकीकरण प्रदेश के डिजिटल भू-अभिलेख डेटाबेस होने से किसानों को बहुत लाभ मिलेगा. इससे भूमि विवरण संबंधित जानकारी खसरा नंबर रकबा और सही ग्राम की जानकारी पोर्टल पर मौजूद होगी. इससे फसल बीमा आवरण और दावा भुगतान की कार्रवाई सरलता से और पारदर्शिता के साथ की जा सकेगी.

आपको बता दे कि छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल छत्तीसगढ़ में अनेक क्षेत्रों में कुछ ना कुछ नया कर रहे है यही कारण है हितग्राहियों को जल्दी लाभ दिलाने की प्रक्रिया भी अपनाई जा रही है. और योजनाओं का डिजिटलीकरण मुख्य रूप से शामिल है.

इसी कड़ी में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजनांतर्गत आर्थिक फसल बीमा पोर्टलों का एकीकरण छत्तीसगढ़ में डिजिटल भू-अभिलेख डाटाबेस (भुइयां) में अत्यंत कम समय में किया गया है. इसी उपलब्धि के लिए भारत सरकार के कृषि एवं कृषक कल्याण मंत्रालय ने छत्तीसगढ़ को उत्कृष्ट पुरस्कार प्रदान किया है.