Saturday , January 28 2023
Home / MainSlide / ईडी एवं आयकर के अधिकारी पूछताछ के नाम पर लोगो को कर रहे हैं प्रताड़ित-भूपेश

ईडी एवं आयकर के अधिकारी पूछताछ के नाम पर लोगो को कर रहे हैं प्रताड़ित-भूपेश

रायपुर 28 नवम्बर।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने ईडी एवं आयकर के अधिकारियों पर पूछताछ के नाम पर लोगो को प्रताड़ित करने का आरोप लगाते हुए कहा कि उनके गैर कानूनी कार्यों पर कार्रवाई करने का राज्य को पूरा अधिकार हैं।

श्री बघेल ने पांच दिवसीय दौरे के बाद यहां लौटने पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि केन्द्रीय एजेन्सियां खासकर ईडी एवं आयकर के अधिकारी अपनी सीमा से बाहर जाकर कार्य कर रहे हैं। पूछताछ के नाम पर लोगो को प्रताडित किया जा रहा हैं।इस दौरान लोगो को तरह तरह से परेशान किया जा रहा हैं। लोगो को खाना देते हैं तो पानी नही देते,बुजुर्ग को खड़ा रहने का निर्देश देते हैं,लोगो की राड से पिटाई कर रहे हैं।इस तरह के अमानवीय कृत्य को कतई स्वीकार नही का जा सकता।

उन्होने कहा कि अपने राज्य के लोगो को सुरक्षा देने की उनकी सरकार की पूरी जिम्मेदारी हैं.कोई सीमाओं से बाहर जाकर कार्य करेंगा तो उनकी सरकार कड़ी कार्रवाई करने में नही हिचकेगी।उन्हे इससे पूर्व कल भी लगातार किए ट्वीट में ईडी और आयकर अधिकरियों पर नियम विरूद्ध कार्य पर चेतावनी दी थी।उन्होने कहा था कि..लोगों को वहीं समन देकर जबरन घर से उठाना, उनको मुर्गा बनाना, मार-पीट कर दवाब डालकर मन चाह बयान दिलवाने को बाध्य करना, आजीवन जेल में सड़ने की धमकी देना, बिना खाना-पानी के देर रात तक रोक कर रखना जैसे गंभीर शिकायतें प्राप्त हो रही हैं..।

श्री बघेल ने कहा था कि स्थानीय पुलिस को सूचना दिए बिना सीआरपीएफ को साथ लेकर छापा मारी कर रहे हैं। अधिकारियों से शिकायत प्राप्त हुई है कि कुछ लोगों को रॉड से पीट रहे हैं, किसी का पैर टूटा है तो किसी को सुनाई देना बंद हो गया है..।इन घटनाओं से प्रदेश की जनता बहुत गुस्से में है। राजनीतिक षड्यंत्र की पूर्ति के उद्देश्य से झूठे प्रकरण बनाने का खेल प्रतीत हो रहा है। अधिकारियों को निर्देशित किया है कि भारत सरकार को इन सब घटनाओं की जानकारी दी जाए और अवैधानिक कृत्यों पर रोक लगायी जाए..।

श्री बघेल के अनुसार..अधिकारियों से कहा गया हैं कि जिससे भी पूछताछ हो, उसकी विडियोग्राफ़ी हो। विधिक ढंग से जांच में हमारा पूर्ण सहयोग रहेगा। यदि ऐसी शिकायतें हमें आगे भी प्राप्त होंगी, तो राज्य की पुलिस विधिक रूप से कार्रवाई हेतु विवश होगी..।

राज्य का भानुप्रतापपुर विधानसभा सीट पर हो रहे चुनाव में सामूहिक दुराचार के कथित आरोपी भाजपा प्रत्याशी ब्रम्हानन्द नेताम की गिरफ्तारी के लिए झारखंड पुलिस के राज्य में छापेमारी करने के बारे में पूछे जाने पर कहा कि यह एक सामान्य प्रक्रिया है।अगर दूसरे राज्य का पुलिस को मदद की जरूरत होती है तो स्थानीय पुलिस से सम्पर्क करती है और वह उसे मदद करती हैं।

भाजपा नेताओं के उन पर झारखंड के मुख्यमंत्री से मित्रता के कारण कार्रवाई करवाने के आरोपों के बारे में पूछे जाने पर उन्होने कहा कि जिस मामले में झारखंड पुलिस कार्रवाई कर रही हैं वह सामूहिक दुराचार का मामला वहां पर भाजपा की रघुवरदास सरकार के कार्यकाल में दर्ज हुआ था।यह बात भाजपा नेताओं को रघुवरदास से पूछना चाहिए।उन्होने कहा कि बहुत सारे लोगो को वह असहमत है तो क्या झारखंड के मुख्यमंत्री उनके कहने से किसी के खिलाफ मुकदमा दर्ज करवा देंगे और गिरफ्तार करवा लेंगे।यह सब बेकार की बातें है।

श्री बघेल ने कहा कि..दुर्भाग्यजनक हैं कि पूरी की पूरी भाजपा एक बलात्कारी के साथ खड़ी हो गई हैं।गलत है तो गलत है छुपाने की क्या जरूरत हैं।उन्होने कहा कि जो लोग हाय तौबा मचा रहे हैं वहीं कल तक झारखंड पुलिस को गिरफ्तारी करने की चुनौती देते घूम रहे थे।