Friday , April 12 2024
Home / MainSlide / लोकतंत्र एवं संविधान को बचाने के लिए लोग कांग्रेस का दे साथ – खड़गे

लोकतंत्र एवं संविधान को बचाने के लिए लोग कांग्रेस का दे साथ – खड़गे

भाटापारा 28 सितम्बर।कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खड़गे ने कहा कि लोगो को लोकतंत्र और संविधान को बचाने की लड़ाई में गरीबों,पिछड़ों,दलितों,आदिवासियों को कांग्रेस का साथ देना होगा।

     श्री खड़गे ने आज यहां आयोजित कृषक सह श्रमिक सम्मेलन को सम्बोधित करते हुए कहा कि अपनी रणनीति के मुताबिक भाजपा ने इस बारे में अपने विचारों के पक्ष में अपने लोगो से चर्चाएं शुरू करवा दी है।वह लोगो में इसके असर को देखना चाहते है।उन्होने कहा कि लोकतंत्र और संविधान को बचाने की लड़ाई में गरीबों,पिछड़ों,दलितों,आदिवासियों को कांग्रेस का साथ देना होगा।

     उन्होने कहा कि कांग्रेस की सरकारों ने समाज के सभी वर्गों को अधिकार सम्पन्न बनाया,तो मोदी सरकार लगातार लोगो को उनके अधिकार छीन कर कमजोर बनाया जा रहा है।किसानों और मजदूरों के कानबन को जहां कमजोर किया गया वहीं अमीरों के हित में लगातर कानबन बन रहे है और उन्हे तमाम रियाय़ते दी जा रही है।उन्होने कहा कि मोदी सरकार की गलत नीतियों के कारण असमानता बढ़ रही है।आज पांच प्रतिशत लोगो के पास देश की 62 प्रतिशत सम्पत्ति है जबकि 50 प्रतिशत लोगो के पास महज तीन प्रतिशत सम्पत्ति है।

     महिला आरक्षण को लेकर प्रधानमंत्री मोदी की वाहवाही में भाजपा के जुटने पर तंज कसते हुए उन्होने कहा कि मिला आरक्षण कोई नया नही है।स्वं राजीव गांधी ने पंचायतों एवं स्थानीय निकायों में महिलाओं को आरक्षण दिया।वह तो संसद एवं विधानसभाओं में भी आरक्षण का बिल लेकर आए थे लेकिन जो आज बड़ी बड़ी बाते कर रहे है उन्होने एक सदन में पास होने के बाद दूसरे सदन में उसे पास नही होने दिया। अब वह पास हुआ तो कब लागू होगा भी पता नही है।

      उन्होने महिला आरक्षण को 2024 के लोकसभा चुनाव से लागू करने की मांग दोहराते हुए कहा कि इसे तुरंत लागू करने में जगगणना या परिसीमन कोई बाधक नही है।उन्होने कहा कि जिस तरह से हर वर्ष दो करोड़ नौकरियां देने,15 लाख सभी के खाते में आने तथा किसानों की आय दोगुनी करने जैसे तमाम वादों को जुमला बता दिया गया,कहीं ऐसा नही कि महिला आरक्षण को भी वह जुमला बता दे।श्री खड़गे ने कहा कि उनकी सोच है कि वह जो वादा करते है लोग थोड़े दिन में भूल जाते है।उन्हे सबक सिखाना जरूरी है।

      श्री खड़गे ने जाति जनगणना और महिला आरक्षण में अन्य पिछड़े वर्ग(ओबीसी) की महिलाओं के लिए भी आरक्षण का प्रावधान किए जाने की कांग्रेस की मांग को दोहराते हुए कहा कि ओबीसी की जनगणना होने दो पता चले कि कितने पढ़े लिखे है,नौकरियों में कौन कितना है और आजादी के बाद कौन लोग बहुत आगे निकल गए कौन बहुत पीछे है।उन्होने कहा कि तभी हम असमानता को दूर करने के लिए कार्यक्रम बना सकते है।श्री खड़गे ने कहा कि हम इसके लिए लड़ रहे है और कांग्रेस को लोगो का इस लड़ाई में साथ चाहिए।

     उन्होने कहा कि कांग्रेस ने महिलाओं को आगे बढ़ाने के लिए बहुत पहले से काम किया।कांग्रेस ने किया उसकी नकल कर रहे है। आज जो वाहवाही लूटने की झूठी कोशिश में लगे है,उनका महिलाओं के प्रति कितना सम्मान है कि संसद के नए भवन के उद्घाटन में राष्ट्रपति को नही बुलाया।उसके शिलान्यास में भी राष्ट्रपति को नही बुलाया था।अहम कार्यक्रमों में राष्ट्रपति को शामिल नही करना इनकी नीति बन गई है।

     कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि हम और हमारे लोग जब अच्छे विचारों को लेकर आगे बढ़ते है,तो वह हमको डराते है।ईडी,ईटी के छापे मारे जाते है।उन्होने कहा कि डरो मत कांग्रेस का साथ दो,मुख्यमंत्री और मंत्रियों का साथ दो,सब ठीक हो जायेगा।उनकी निय़त ही सताने की है,तो सताने दो कितना सतायेगे।यह हमेशा यहीं करते है।अभी रायपुर में अमित शाह और नड्डा आए है,और वह राज्य में सभी वर्गों के कांग्रेस को मिल रहे समर्थन से परेशान है,कुछ करेंगे,पर कुछ भी कर ले छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को हिला नही पायेंगे।    

    मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि उनकी सरकार ने किसानों से प्रति एकड़ 20 क्विंटल धान खरीद का निर्णय लिया है।राज्य में 600 नई राइस मिले लग रही है।इससे लोगो को रोजगार भी मिलेगा।उन्होने कहा कि उनकी सरकार ने 42 हजार पदों पर भर्तियां की है और विकास के कार्यों के साथ ही राज्य की संस्कृति और परम्पराओं को भी बचाने का काम किया है।उन्होने कहाकि उनकी सरकार के कार्यों के चवते नक्सल बहुत पीछे चले गए है और बस्तर में शान्ति लौट रही है।

     उन्होने कहा कि उनकी सरकार ने गरीब,किसान,मजदूर ,व्यापारी सहित सभी वर्गों के विश्वास को कायम रखा है,दूसरी तरफ केन्द्र की मोदी सरकार ने हर वर्ग के लिए मुश्किले खड़ी की है।किसानों की आय दोगुनी होना तो दूर पेट्रोल,डीजल,रसोई गैस की बढ़ती कीमते,बढ़ती बेरोजगारी से लोग त्रस्त है।रेलवे को सबसे ज्यादा आय देने वाले छत्तीसगढ़ में आए दिन यात्री रेलगाडियां रद्द हो रही है जबकि कोयले की मालगाडियां दौड़ रही है।उन्होने कहा कि कोरोना में बन्द ट्रेने भी रेलवे ने नही शुरू की।लोगो को मुश्किल में डालने का हर काम केन्द्र सरकार कर रही है।कार्यक्रम को उप मुख्यमंत्री टी.एस.सिंहदेव एवं प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष दीपक बैज ने भी सम्बोधित किया।इस मौके पर विधानसभा अध्यक्ष डा.चरणदास महंत,राज्य की कांग्रेस प्रभारी कुमारी सैलेजा भी मौजूद थी।