Saturday , April 20 2024
Home / MainSlide / आम जनता की अपेक्षा के विपरीत घोर निराशाजनक बजट- बैज

आम जनता की अपेक्षा के विपरीत घोर निराशाजनक बजट- बैज

रायपुर 01 फरवरी।छत्तीसगढ़ प्रदेश कांग्रेस के अध्यक्ष एवं सांसद दीपक बैज ने कहा है कि चुनावी बजट भी पूरी तरह से झूठे सपने, जुमले और झांसे का बजट साबित हुआ है, यथार्थ में आम जनता को किसी भी तरह की कोई राहत या वस्तावित रियायत नहीं दी गई है।

      श्री बैज ने आज यहां जारी बयान में बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि पुरानी झूठ को एक बार फिर से परोसा गया है कि सात लाख तक आयकर में छूट रहेगी जबकि हकीकत यह है कि पिछले बजट में ही नए टैक्स रिजीम के तहत केवल 7 लाख के भीतर आय वालों को टैक्स में छूट दी गई ना की बेसिक एक्जंपप्शन लिमिट बढ़ाया गया है। नए टैक्स रिजिम में किसी भी तरह की कटौती का प्रावधान नहीं है। असलियत यह है कि आयकर के लिए बेसिक एक्जंपप्शन लिमिट आज भी ढाई लाख ही है पिछले 10 साल से एक रूपए भी नहीं बढ़ाया गया है बेसिक एक्जंपप्शन लिमिट और टैक्स रिबेट में अंतर है, टैक्स रिबेट का लाभ है लिमिट क्रॉस होने पर खत्म हो जाती है जबकि बेसिक एक्जंपप्शन लिमिट बढ़ाये जाने का लाभ प्रत्येक करदाता को मिलता।

      उन्होने कहा कि मोदी सरकार की प्राथमिकताओं में जनकल्याणकारी योजनाएं नहीं है खाद सब्सिडी, खाद्य सब्सिडी, मनरेगा, एमएसपी की गारंटी, स्वामीनाथन कमेटी के अनुसार एमएसपी और सामाजिक सुरक्षा के मद में कोई विशेष प्रावधान नहीं है। अंतरिम बजट आगामी तीन माह के लिए है लेकिन लफ्फाजी आने वाले 5 सालों के लिए कहा गया है कि आगामी 5 वर्षों में दो करोड़ घर बना कर देंगे? मंहगाई, बेरोजगारी और बढ़ती आर्थिक असमानता से निपटने का कोई रोड मैप नहीं है।