Friday , April 12 2024
Home / देश-विदेश / लाल सागर में अमेरिकी युद्धक जहाजों पर मिसाइल हमला

लाल सागर में अमेरिकी युद्धक जहाजों पर मिसाइल हमला

हूती विद्रोहियों का कहना है कि उन्होंने लाल सागर में अमेरिका के दो युद्धक जहाजों पर मिसाइलों और ड्रोन से हमला किया। अभी तक अमेरिका की तरफ से इसे लेकर कोई बयान सामने नहीं आया है।

ईरान समर्थित हूती विद्रोहियों ने अमेरिका के दो युद्धक जहाजों को लाल सागर में निशाना बनाने का दावा किया है। हूती संगठन के प्रवक्ता याहया सरेया ने टेलीविजन पर जारी किए गए बयान में ये बड़ा दावा किया है। हूती विद्रोहियों का कहना है कि उन्होंने लाल सागर में अमेरिका के दो युद्धक जहाजों पर मिसाइलों और ड्रोन से हमला किया। हालांकि अभी तक अमेरिका की तरफ से इसे लेकर कोई बयान सामने नहीं आया है।

फलस्तीन के समर्थन में हमले कर रहे हूती विद्रोही
इस्राइल हमास युद्ध शुरू होने के बाद से ही हूती विद्रोही फलस्तीन के समर्थन में अंतरराष्ट्रीय शिपिंग रूट पर लाल सागर, अदन की खाड़ी में व्यापारिक जहाजों को निशाना बना रहे हैं। इन हमलों के चलते कई व्यापारिक फर्म ने अंतरराष्ट्रीय शिपिंग रूट की बजाय अपने जहाजों को दक्षिण अफ्रीका के लंबे रूट से भेजना शुरू कर दिया है। इसके चलते दुनिया में महंगाई बढ़ने की आशंका है। साथ ही हूती विद्रोहियों के हमले से इस्राइल हमास युद्ध के पूरे अरब क्षेत्र में फैलने का खतरा बढ़ गया है। अंतरराष्ट्रीय शिपिंग रूट की सुरक्षा के लिए अमेरिका ने अपने सहयोगियों के साथ मिलकर निगरानी बढ़ा दी है। हालांकि हूती विद्रोही अमेरिका के युद्धक जहाजों को भी निशाना बना रहे हैं। अमेरिकी युद्धक जहाजों ने पूर्व में हूती विद्रोहियों के कई हमलों को नाकाम किया है।

अमेरिका ने हूती विद्रोहियों के खिलाफ की थी कार्रवाई
बीते दिनों अमेरिका ने ब्रिटेन के साथ मिलकर यमन में हूती विद्रोहियों के ठिकानों पर भारी बमबारी की थी। हालांकि इसके बावजूद हूती विद्रोही पीछे हटने को तैयार नहीं है और लगातार लाल सागर में हमले कर रहे हैं। भारतीय नौसेना ने भी अरब सागर और अदन की खाड़ी में अपने युद्धक जहाज तैनात किए हैं और कई व्यापारिक जहाजों को हमलों से बचाया है, लेकिन सारी कोशिशों के बावजूद अंतरराष्ट्रीय शिपिंग रूट की सुरक्षा सुनिश्चित नहीं हो पा रही है।