Monday , May 27 2024
Home / जीवनशैली / शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर मिलने लगते हैं ये संकेत

शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर मिलने लगते हैं ये संकेत

हाई कोलेस्ट्रॉल एक गंभीर समस्या है जो सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। ऐसे में जरूरी है कि समय रहते इसकी पहचान कर इसके हानिकारक प्रभावों से बचा जाए। शरीर में हाई कोलेस्ट्रॉल होने पर कई संकेत नजर आते हैं जिसकी अनदेखी भारी पड़ सकती है। आइए जानते हैं शरीर में नजर आने ऐसे ही कुछ संकेतों के बारे में।

कोलेस्ट्रॉल हार्ट हेल्थ के लिए हमेशा से ही घातक रहा है। हार्ट हेल्थ को बनाए रखना है, तो एक्स्ट्रा फैट और बैड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ने से रोकना होगा, क्योंकि यही दोनों हार्ट हेल्थ को सबसे अधिक प्राभावित करता है। इनता ही नहीं यह हार्ट अटैक और स्ट्रोक जैसी गंभीर समस्याओं को भी जन्म देता है।आप सभी ने अकसर कोलेस्ट्रॉल का नाम सुना होता, लेकिन ये है क्या और किस तरह बढ़ता है, इसके बारे में कम लोग ही जानते होंगे। ऐसे में आज जानेंगे क्या है कोलेस्ट्रॉल और इसके बढ़ने के आखिर लक्षण क्या हैं?

कोलेस्ट्रॉल क्या है?
कोलस्ट्रॉल का निर्माण हमारे शरीर में लीवर द्वारा होता है, जो कि एक फैट जैसा पदार्थ होता है, जो कोशिका झिल्ली, पाचनतंत्र, विटामिन डी और कुछ जरूरी हार्मोन्स के निर्माण के लिए बहुत जरूरी होता है। अघुलनशील होने के कारण इसका संचार हर जगह नहीं हो सकता है। इसके लिए लिपोप्रोटीन नामक कण की जरूरत होती है, जो कोलेस्ट्रॉल को ब्लड के माध्यम से दूसरे अंगों तक पहुंचाने में मदद करती है।

लिपोप्रोटिन दो तरह की होती है। जिसमें से एक है लो डेंसिटी लिपोप्रोटीन (LDL), जिसे खराब कोलेस्ट्रॉल कहा जाता है। दूसरा है हाई डेंसिटी लिपोप्रोटीन(HDL) जिसे अच्छा कोलेस्ट्रॉल भी कहते हैं। बैड कोलेस्ट्रॉल का बढ़ना अनेक तरह की बीमारियों की वजह बनता है। वहीं, गुड कोलेस्ट्रॉल शरीर को फायदे पहुंचाता है और बैड कोलेस्ट्रॉल हार्ट अटैक, स्ट्रोक जैसी गंभीर समस्याएं पैदा करता है।

कोलेस्ट्रॉल बढ़ने के लक्षण
ज्यादा पसीना आना
वैसे तो पसीना आना कोई बहुत बड़ी समस्या नहीं है, लेकिन इसका सामान्य से अधिक आना बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल की तरफ ही संकेत करता है।

पैरो में दर्द का बने रहना
बिना किसी मेहनत के पैरो में दर्द का बने रहना भी बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल की तरफ ही संकेत करता है। इसे बिल्कुल भी हल्के में नहीं लेना चाहिए। ये दर्द अगर लगातार बना हुआ है, तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करें।

क्रैंप्स या ऐंठन का होना
शरीर के किसी भी अंग में अचानक से होने वाली ऐंठन हाई कोलेस्ट्रॉल की तरफ ही संकेत करता है। ये ऐंठन पैरों, कूल्हों, जांघों और पंजों में हो सकती है। कई बार मांसपेशियों में होने वाली अकड़न भी कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने के कारण होती हैं।

सीने में दर्द होना
सीने में अकसर दर्द की समस्या गैस की वजह से ही होती है, लेकिन कई बार ये बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल की वजह से भी होता है। इसलिए सीने में होने वाले दर्द को हल्के में न लें।

त्वचा के रंग में बदलाव आना
अगर आपके शरीर का रंग हल्का पीला पड़ रहा है तो ये कोलेस्ट्रॉल के बढ़ने का ही संकेत है। ऐसे में आपको तुरन्त डॉक्टर से संपर्क करना चाहिए।

वजन बढ़ना
वजन का बढ़ना हर स्थिति में हमारे लिए घातक ही है। लगातार वजन का बढ़ना कोलेस्ट्रॉल के हाई होने का ही संकेत होता है। इसके लिए तुरंत चिकित्सक से संपर्क करें।

चेहरे पर उभार और खुजली
आंखों के नीचे या आस पास की स्किन में हल्का उभार और उसमें खुजली का होना भी बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को ही दर्शाता है।