Friday , June 14 2024
Home / MainSlide / इलाज के दौरान धोखाधड़ी पर छह अस्पतालों के खिलाफ जुर्माना

इलाज के दौरान धोखाधड़ी पर छह अस्पतालों के खिलाफ जुर्माना

रायपुर 07 जनवरी।छत्तीसगढ़ सरकार की स्वास्थ्य योजनाओं के अंतर्गत इलाज के दौरान फ्रॉड (धोखाधड़ी) की शिकायतों पर स्टेट एन्टी-फ्रॉड यूनिट ने मरीजों की शिकायतों पर छह अस्पतालों के खिलाफ अर्थदण्ड आरोपित कर राशि वसूल की गई है।

स्वास्थ्य विभाग से मिली जानकारी के अनुसार संबंधित अस्पतालों द्वारा 40 लाख रूपए से अधिक राशि राज्य नोडल एजेंसी के खाते में जमा भी करा दी गई है। दो दन्त चिकित्सालयों को 80 लाख रूपए जमा करने का नोटिस भेजा गया है।अस्पतालों की गलती पाए जाने पर छह अस्पतालों को निलंबित किया जा चुका है।इनमें से तीन अस्पतालों द्वारा अपील करने पर सुनवाई के बाद फिर से योजनाओं में काम करने का मौका दिया गया है। महासमुन्द जिले में स्थित एक अस्पताल को शासकीय योजनाओं के तहत इलाज से बर्खास्त भी किया गया है।

राज्य नोडल एजेंसी के अधिकारियों के अनुसार  उपचार के दौरान फ्रॉड रोकने शिकायत के लिए एजेंसी द्वारा मापदंड तय किए गए हैं। इनमें अस्पताल द्वारा इलाज के लिए अतिरिक्त राशि लिया जाना, पैसे के लालच में अनावश्यक उपचार करना, बिना जरूरत के उपचार करना और गुणवत्ताहीन इलाज करना शामिल है।स्टेट एन्टी-फ्रॉड यूनिट मरीजों की शिकायतों का इन मापदंडों पर परीक्षण कर उचित कार्रवाई करेगी।