Thursday , February 9 2023
Home / MainSlide / व्यसन से नहीं जानी चाहिये एक भी पुलिसकर्मी की जान – अवस्थी

व्यसन से नहीं जानी चाहिये एक भी पुलिसकर्मी की जान – अवस्थी

रायपुर 23 फरवरी।छत्तीसगढ़ के पुलिस महानिदेशक डी.एम.अवस्थी ने कहा हैं कि दूसरों की जान को बचाने के लिये अपनी जान की परवाह नहीं करने के मूल मंत्र पर काम करने वाले एक भी पुलिसकर्मी की व्यसन से जान नही जानी चाहिए।

श्री अवस्थी ने आज तीसरी बटालियन अमलेश्वर में व्यसन मुक्ति कार्यक्रम ‘नई सुबह’ के शुभारंभ के अवसर पर यह विचार व्यक्त करते हुए कहा कि हमारे प्रत्येक जवान का जीवन बेहद कीमती है। आपकी बहादुरी की तरह इच्छाशक्ति भी मजबूत होनी चाहिये। दृढ़ इच्छाशक्ति के जरिये ही व्यसनों से दूरी बनायी जा सकती है। आप अपने बच्चों और परिवार के बारे में भी ख्याल करिये। आपके बिना उनका जीवन अधूरा है।

उन्होने कहा कि आप अपने परिवार के लिये बहुत ही महत्वपूर्ण और बेशकीमती हैं। इस अवसर पर श्री अवस्थी ने व्यसन मुक्ति के लिये नई सुबह कार्यक्रम की वेबसाईट की भी शुरुआत की। तीसरी बटालियन के कमांडेंट प्रखर पांडे ने कहा कि जैसे अन्य बीमारियों का इलाज है वैसे ही व्यसन का भी इलाज है। इससे आपका स्वास्थ्य और परिवार प्रभावित होता है। इस कैंप के माध्यम से आप अपने जीवन को और भी अनुशासित कर पायेंगे।

उल्लेखनीय है कि राज्य में पुलिसकर्मियों को व्यसनों से दूर करने के लिये नई सुबह कार्यक्रम प्रारंभ किया गया है। इसमें राज्य के सभी ऐसे जवानों को बुलाया गया है जो अलग-अलग प्रकार के व्यसनों से ग्रसित हैं। इनके लिये 30 जवानों का बैच बनाकर 15 दिन का विशेष कैंप आयोजित कर काउंसलिंग की जायेगी। इसके साथ ही योगा, मेडिटेशन, म्यूजिक थैरेपी आदि के जरिये व्यसनों से दूर करने की कोशिश होगी।