Wednesday , February 1 2023
Home / MainSlide / मोदी ने कोविड-19 प्रबंधन पर छत्तीसगढ़ के कलेक्टर से भी चर्चा की

मोदी ने कोविड-19 प्रबंधन पर छत्तीसगढ़ के कलेक्टर से भी चर्चा की

रायपुर 20 मई।प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा ने आज कोविड-19 प्रबंधन तथा कोरोना संक्रमण की वर्तमान स्थिति की समीक्षा के लिए आयोजित कलेक्टरों की देशव्यापी वर्चुअल बैठक में छत्तीसगढ़ के जांजगीर-चापा जिले के कलेक्टर से भी चर्चा की।बैठक में मुख्यमंत्री भूपेश बघेल भी शामिल हुए।

श्री मोदी द्वारा बुलाई इस बैठक में राज्य के बलौदाबाजार-भाटापारा, रायगढ़, जांजगीर-चांपा, कोरबा और बिलासपुर जिलों के कलेक्टर शामिल हुए,लेकिन श्री मोदी ने केवल जांजगीर-चांपा के कलेक्टर से ही चर्चा की।उन्होने कलेक्टर यशवंत कुमार से चर्चा कर जिले में कोविड प्रबंधन की स्थिति की जानकारी ली।कलेक्टर ने उन्हे बताया कि जिले के 31 गांवों में 90 प्रतिशत लोगों का वैक्सीनेशन हो चुका है।जिले में शतप्रतिशत हेल्थ वर्कर्स और फ्रंट लाइन वर्कर्स को वैक्सीन की पहली डोज लगाई जा चुकी है। इन दोनों ही वर्गो में 85 प्रतिशत लोगों को दूसरी डोज भी लगाई जा चुकी है।जल्द ही इन वर्गों के सभी लोगों को वैक्सीनेशन कर लिया जाएगा।

कलेक्टर ने श्री मोदी को बताया कि जिले में 45 वर्ष से अधिक आयु के 70 प्रतिशत लोगों का वैक्सीनेशन किया गया है। 18 से 44 वर्ष आयु के लोगों का वैक्सीनेशन प्रारंभ हो गया है। जैसे-जैसे वैक्सीन की आपूर्ति बढ़ेगी, तेजी से वैक्सीनेशन किया जाएगा। जिले में पॉजिटिविटी रेट 30 प्रतिशत थी, जो अब घटकर 14 प्रतिशत हो गई है। बहुत जल्द यह 10 प्रतिशत के नीचे आ जाएगी।  कलेक्टर ने जानकारी दी कि जिले में स्वास्थ्य अधोसंरचना की स्थिति अच्छी है। जिले के अस्पतालों में कुल 1691 सामान्य बेड हैं, जिनमें से 883 रिक्त हैं। इसी तरह जिले में 621 ऑक्सीजन बेड हैं, जिनमें से 303 भरे हैं। जिले के कोविड सेंटरों में 150 बेड उपलब्ध हैं। कोविड सेंटरों में योगा और टीवी की व्यवस्था भी की गई है।

कलेक्टर ने प्रधानमंत्री को यह भी जानकारी दी कि कई गांवों में लोगों ने स्वयं ही बाहर से आने वाले लोगों की आवाजाही पर प्रतिबंध लगाया है, जिससे संक्रमण न फैले।अस्पतालों में पोस्ट कोविड ओपीडी भी प्रारंभ की गई है।बैठक में मुख्य सचिव अमिताभ जैन, मुख्यमंत्री के अपर मुख्य सचिव  सुब्रत साहू, स्वास्थ्य विभाग के प्रमुख सचिव डॉ. आलोक शुक्ला और मुख्यमंत्री के सचिव सिद्धार्थ कोमल परदेशी भी उपस्थित थे।