Tuesday , June 18 2024
Home / MainSlide / सोनिया राहुल जब तक चाहेंगे,तब तक वह रहेंगे मुख्यमंत्री – भूपेश

सोनिया राहुल जब तक चाहेंगे,तब तक वह रहेंगे मुख्यमंत्री – भूपेश

रायपुर 25 अगस्त।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा कि..सोनिया राहुल जब तक चाहेंगे,तब तक वह मुख्यमंत्री के पद पर बने रहेंगे..।उन्होने यह भी कहा कि राज्य में राजनीतिक अस्थिरता पैदा करने के लिए मुख्यमंत्री के पद के लिए ढ़ाई-ढ़ाई साल का राग अलाप करने वाले अपने मिशऩ में कभी सफल नही होंगे।

श्री बघेल ने आज यहां पत्रकारों से बातचीत करते हुए कहा कि..सोनिया गांधी राहुल गांधी ने मुझ जैसे किसान के बेटे को सरकार चलाने की जिम्मेदारी दी है।यह सरकार किसानों,आदिवासियों और मजदूरों की है।दो करोड़ 80 लाख लोगो की हैं।सरकार बहुत शानदार ढ़ग से काम कर रही है।मुझे खुशी है कि किसान के बेटे पर सोनिया जी,राहुल जी ने विश्वास किया है..।उन्होने कहा कि जब तक उनका आदेश हमारे लिए है,तब तक हम पद पर रहेंगे,जब वह कहेंगे तो हम पद छोड़ देंगे,इसे लेकर किसी को संशय नही होना चाहिए।

उन्होने पार्टी में अपने प्रतिद्धन्दी स्वास्थ्य मंत्री टी.एस.सिंहदेव का नाम लिए बगैर कहा कि मुख्यमंत्री के पद के लिए ढ़ाई-ढ़ाई साल का जो राग अलाप रहे है,वह राज्य में राजनीतिक अस्थिरता पैदा करने के प्रयास में है,जिसमे वह कभी कामयाब नही होंगे।उन्होने कहा कि राज्य के प्रभारी पी.एल.पुनिया ने कल साऱी बाते स्पष्ट कर दी है।उन्होने प्रति उत्तर में कहा कि पुनिया जी के बयान के बाद कुछ शेष नही रह जाता।

भाजपा के राज्य में चिंतन शिविर आयोजित करने के बारे में पूछे जाने पर उन्होने कहा कि किसान के बेटे का मुख्यमंत्री होना भाजपा के लिए सबसे बड़ी चुनौती है।भाजपा के पास इसका जवाब नही है।उऩ्होने कहा कि 2003 से 2018 तक 15 वर्ष भाजपा की राज्य में सत्ता थी,राज्य के लोगो ने जब उनकी असलियत जान ली तो वह 14 सीट पर पहुंच गए।

श्री बघेल ने बताया कि वह पार्टी आलाकमान के बुलावे पर दिल्ली गए थे,और कल उनकी राहुल गांधी जी,वेणुगोपाल एवं पुनिया जी से मुलाकात हुई।इस दौरान उनसे राज्य की राजनीतिक स्थिति,राज्य में चल रही योजनाओं एवं कार्यक्रमों के बारे में चर्चा हुई।उन्होने यथास्थिति से उन्हे अवगत करवाया।

श्री बघेल का स्वागत करने के लिए राज्यभऱ से पार्टी के उनके समर्थकों की भारी भीड़ विमानतल पर पहुंची थी।राज्य के दो मंत्री रविन्द्र चौबे,अमरजीत भगत,संसदीय सचिव विकास उपाध्याय,रायपुर के महापौर एजाज ढ़ेबर के साथ ही कई विधायक,निगमों मंडलों के पदाधिकारी भी मौजूद थे।