Friday , February 3 2023
Home / देश-विदेश / यूक्रेन युद्ध पर जाने ये क्या बोल गए रूस के राष्ट्रपति, पढ़े पूरी खबर

यूक्रेन युद्ध पर जाने ये क्या बोल गए रूस के राष्ट्रपति, पढ़े पूरी खबर

यूक्रेन पर हमला कर चारों तरफ से आलोचना और प्रतिबंधों की मार झेल रहे रूस के राष्ट्रपति पुतिन अभी भी झुकने को तैयार नहीं हैं. कुछ समय पहले तक ऐसी संभावना जताई जा रही थी कि पुतिन कुछ नरम रुख अख्तियार कर सकते हैं. लेकिन पुतिन के वायरल एक वीडियो से यह भ्रम भी जाता रहा. सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो में पुतिन को हाथ में शैंपेन का जाम थामे यूक्रेन पर हमले को जायजा ठहराते देखा जा सकता है. 

पुतिन दअसल क्रेमलिन में आयोजित एक कार्यक्रम में पहुंचे थे. उन्होंने यहां यूक्रेन के एनर्जी इन्फ्रास्ट्रक्चर पर रूस के हमलों को वाजिब ठहारया. उन्होंने कहा कि रूसी हमलों की आलोचना से हमारे मिशन पर कोई असर नहीं पड़ेगा. 

यूक्रेन युद्ध पर क्या बोल गए पुतिन?

सोशल मीडिया पर वायरल इस वीडियो में पुतिन कहते हैं कि यूक्रेन पर रूस के हमले को लेकर अंतरराष्ट्रीय स्तर पर जो भी बातें कही जा रही हैं, सब झूठी हैं. उन्हें (अंतरराष्ट्रीय बिरादरी) हमारे मामले से दूर रहना चाहिए. हमारे लोगों के प्रति हमारे फर्ज को पूरा करने में कोई हमें नहीं रोक सकता. 

पुतिन ने कहा कि यूक्रेन के एनर्जी इन्फ्रास्ट्रक्र पर हमारे हमलों को लेकर फिलहाल बहुत हो-हल्ला मचा हुआ है. हां, हम हमला कर रहे हैं. लेकिन किसने शुरू किया? किसने क्रीमिया ब्रिज पर हमला किया? कुर्स्क न्यूक्लियर पावर स्टेशन की पावर लाइन्स को किसने उड़ाया? दोनेत्सक को कौन पानी नहीं दे रहा? 10 लाख लोगों की आबादी वाले शहर को पानी मुहैया नहीं कराना नरसंहार के समान है. लेकिन किसी ने इस पर कुछ नहीं कहा. सब ने चुप्पी साध रखी है. लेकिन जैसे ही हम कुछ करते हैं, पूरी दुनिया में हाहाकार मच जाता है. बता दूं कि इससे हमारे उद्देश्य पर कोई असर नहीं पड़ेगा. 

बता दें कि रूस 10 अक्टूबर से ही यूक्रेन की पावर ग्रिड सहित उसके एनर्जी इन्फ्रास्ट्रक्चर को निशाना बना रहा है. कुछ पश्चिमी नेताओं ने रूस के इस कृत्य को युद्ध अपराध कहा है क्योंकि इससे यूक्रेन के सिविल इन्फ्रास्ट्रक्चर को भारी नुकसान पहुंचा है. इसके बावजूद पुतिन ने दो टूक कहा है कि वैश्विक आलोचना से उनके इरादे नहीं बदलेंगे. 

उन्होंने कहा कि यूक्रेन के एनर्जी इन्फ्रास्ट्रक्चर पर हमारे हमलों को लेकर बहुत हंगामा खड़ा कर दिया गया है. हां, हम यूक्रेन के एनर्जी इन्फ्रास्ट्रक्चर को निशाना बना रहे हैं. लेकिन यह किसने शुरू किया.

क्रीमिया ब्रिज का बदला

पुतिन ने कहा कि यूक्रेन के एनर्जी इन्फ्रास्ट्रक्चर पर हमले दरअसल आठ अक्टूबर को क्रीमिया को रूस से जोड़ने वाले पुल पर हुए हमले के बाद की कार्रवाई है. उन्होंने यूक्रेन पर कुर्स्क न्यूक्लियर पावर प्लांट को निशाना बनाने का भी आरोप लगाया. 

बता दें कि रूस ने क्रीमिया ब्रिज पर हमले के लिए सीधे तौर पर यूक्रेन को जिम्मेदार ठहरा रहा है. रूस का कहना है कि यूक्रेन युद्ध में इस ब्रिज के महत्व को देखते हुए ही यूक्रेन ने इसे निशाना बनाया. 

दरअसल रूस को क्रीमिया से जोड़ने वाले इस ब्रिज के जरिए ही मॉस्को यूक्रेन के दक्षिणी हिस्से में आसानी से हथियारों की सप्लाई करता आ रहा है. 

पुतिन ने कहा कि जब रूस, यूक्रेन के हमले का जवाब देता है तो बड़ा हो-हल्ला मचता है. लेकिन यूक्रेन की हरकतों को नजरअंदाज कर दिया जाता है.