Saturday , March 2 2024
Home / MainSlide / राहुल ने देश में नफरत एवं हिंसा के लिए भाजपा एवं मोदी सरकार को बताया जिम्मेदार  

राहुल ने देश में नफरत एवं हिंसा के लिए भाजपा एवं मोदी सरकार को बताया जिम्मेदार  

रायगढ़ 11 जनवरी।कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी ने देश में नफरत एवं हिंसा के लिए भाजपा एवं मोदी सरकार को जिम्मेदार ठहराया है।उन्होने कहा कि नफरत एवं हिंसा फैलाने वाले देश के कतई हितैषी नही हो सकते है।

    श्री गांधी ने आज यहां जन नायक चौक में लोगो को सम्बोधित करते हुए कहा कि  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर हमला बोलते हुए कहा कि आज जो भी देश में हिंसा फैल रही है उसकी वजह भाजपा और नरेंद्र मोदी की सरकार है। देश के लोगों के साथ अन्याय किया जा रहा है। मणिपुर में दो समुदाय को आपस में हिंसा में झोंक दिया। मणिपुर जल रहा है, लेकिन प्रधानमंत्री मोदी वहां नहीं गए। मुझे भी वहां से जाने से रोका गया। 

    उन्होने कहा की देश के किसान, गरीब, पिछड़े वर्ग, आदिवासी, दलितों महिलाओं के साथ अन्याय किया जा रहा है। वह अन्याय आर्थिक और सामाजिक रूप में की जा रही है। देश में अन्याय का बीज बोकर नफरत और हिंसा फैलाई जा रही है। सभा के दौरान उन्होंने पास में बैठाए गए बच्चो से पूछा की आप अन्याय वाले हिंदुस्तान में रहना चाहते हो या न्याय वाले हिंदुस्तान में रहना चाहते हो इस पर बच्चे समेत भीड़ ने कहा न्याय के हिंदुस्तान में रहना चाहते हैं। साथ बैठी बच्ची ने कहा की भारत में इसलिए रहना चाहती हूं कि मुझे अपने देश से बहुत प्यार है। बच्ची की बात पर श्री गांधी ने कहा कि जो बात देश के प्रधानमंत्री को समझ आई वो बात इस बच्ची ने दो लाइन में कह दिया।

    उन्होंने कहा की जो देश में नफरत फैलाते हैं वो देश प्रेमी नहीं होते है।श्री गांधी ने नरेंद्र मोदी पर सवालिया निशान लगाते हुए कहा की पहले हिंदुस्तान के इतिहास में कभी नहीं हुआ होगा जो प्रधानमंत्री मोदी ने किया है जिन युवाओं ने पांच साल मेहनत कर पसीना बहाया उन्हें सेना में नौकरी नहीं दी। एक लाख 50 हजार युवा भटक रहे हैं सेना में उनकी भर्ती हो गई थी बाद में उनकी भर्ती रद्द कर दी गई और कहा गया हम नहीं लेंगे। हिंदुस्तान के इतिहास में यह पहली बार हुआ। नियुक्ति हो जाने के बाद भी उन्हें नहीं लिया गया।

    श्री गांधी ने कहा कि पहले आर्मी में जाने पर आर्मी उसकी और उसके परिवार की रक्षा करता था अब मोदी जी अग्नि वीर बना रहे हैं जिसकी कोई सुरक्षा नहीं है और चार साल के बाद चार में से एक को आर्मी में लिया जाएगा और बाकि को कोई सुरक्षा नहीं। अग्निवीर बॉर्डर पर लड़ते हुए अगर गोली लग जाने से शहीद हो जाता है तो उसे शहीद का दर्जा नहीं दिया जाएगा।पहले आर्मी में डिफेंस की फैक्ट्री से बनी राइफल बंदूके खरीदी जाती थी अब सारा हथियार देने अडानी को ठेका दे दिया गया है। देश की रक्षा में जिन भी हथियारों और उपकरणों की जरूरत होती है उसे एक एक कर अडानी जी कंपनी को दे दिया गया। देश का सब कुछ एक व्यक्ति अडानी को दे दिया जा रहा है।

     उन्होने कहा कि पहले हम आदिवासियों को आदिवासी कहते थे जल जंगल जमीन पर पहला कब्जा उन्ही का मानते थे लेकिन मोदी जी कहते हैं कि तुम आदिवासी नहीं हो तुम जंगल में रहते हो वनवासी हो, जल जंगल जमीन पर तुम्हारा कोई अधिकार नहीं है। उन्होंने कहा की मैने लोकसभा में आवाज उठाई कि देश में जातिगत जनगणना होनी चाहिए लेकिन प्रधानमंत्री  मोदी ने मना कर दिया कहा इसकी जरूरत नहीं है। कैसे पता चलेगा कितने पिछड़े है कितने दलित हैं कितने आदिवासी हैं। किसके पास क्या है किसके पास कितनी नौकरियां, किसकी देश में कितनी भागीदारी है। मोदी नहीं चाहते कि पिछड़ों को ये पता न लग जाए की उनकी आबादी कितनी है उनकी भागीदारी कितनी है। 

   श्री गांधी की भारत जोड़ो न्याय यात्रा गत 08 फरवरी को ओडिशा से छत्तीसगढ़ पहुंची थी। राज्य में यात्रा का दो दिन का विश्राम था।दो दिन के विश्राम के बाद आज फिर शुरू हुई।श्री गांधी दोपहर में रायगढ़ शहर पहुंचे और शहर में स्थित महात्मा गांधी की प्रतिमा में माल्यार्पण कर खुली जिप्सी में सवार होकर शहर में भ्रमण किया। शहर में यात्रा के दौरान पूरे रास्ते भर लोगों का हुजूम उमड़ पड़ा, श्री गांधी ने हाथ हिलाकर लोगों का अभिवादन स्वीकार किया।श्री गांधी को देखने भारी संख्या में लोग घरों की छतों पर नजर आए।