Wednesday , April 24 2024
Home / खास ख़बर / दिल्ली में तेजी से बढ़ रहे स्टमक फ्लू के मामले

दिल्ली में तेजी से बढ़ रहे स्टमक फ्लू के मामले

मौसम के बदलते मिजाज के साथ ही सेहत भी गड़बड़ाने लगी है। दिल्ली-एनसीआर में स्वाइन फ्लू के बढ़ते मामलों के बीच इस समय स्टमक फ्लू (Stomach Flu) के मामले भी तेजी से सामने आ रहे हैं। बीते कुछ दिनों से राजधानी में लगातार पेट में दर्द और ऐंठन की शिकायतें बढ़ गई हैं। इसे गैस्ट्रोएंटेराइटिस भी कहा जाता है, जो अक्सर मतली, उल्टी, दस्त और डिहाईड्रेशन जैसे लक्षणों की वजह बनता है। यह एक तरह की वायरल स्थिति है, जो काफी आसानी से फैलती है।

ऐसे में स्टमक फ्लू के बढ़ते मामलों की वजह और इससे सुरक्षित रहने के उपायों के बारे में विस्तार से जानने के लिए हमने गुरुग्राम स्थित मैक्स हॉस्पिटल में इंटरनल मेडिसिन के निदेशक डॉ. शैलेश सहाय से बातचीत की।

स्टमक फ्लू के मामले बढ़ने के कारण
डॉक्टर ने दिल्ली में तेजी से बढ़ रहे गैस्ट्रोएंटेराइटिस के मामलों की निम्न वजह बताई-

बीमारी लोगों से निपट संपर्क- आमतौर पर लोग सर्दियों के मौसम में अक्सर घर के अंदर रहते हैं, जिसकी वजह से घर में बीमार लोगों के निकट संपर्क में आते हैं। ऐसे में साल के इस समय में पेट फ्लू के मामले चरम पर होते हैं।
वायरल ट्रांसमिशन- यह फ्लू एक अत्यधिक संक्रामक वायरस के कारण होता है, जो सीधे स्पर्श या दूषित सतहों के माध्यम से आसानी से फैलते हैं। इनमें रोटावायरस और नोरोवायरस शामिल हैं।
कमजोर इम्युनिटी- कमजोर इम्युनिटी वाले लोग, बुजुर्ग और छोटे बच्चे संक्रमण के प्रति अधिक संवेदनशील होते हैं। ऐसे में स्टमक फ्लू कमजोर इम्युनिटी वाले लोगों को आसानी से अपने चपेट में ले लेता है।
साफ-सफाई की कमी- किसी भी तरह का वायरस इन्फेक्शन खराब स्वच्छता के कारण फैलता है। ऐसे में अपने आसपास साफ-सफाई का खास ख्याल रखें।
दूषित खानपान- अक्सर दूषित या खराब खाना खाने या पानी पीने की वजह से शरीर स्टमक फ्लू के चपेट में आ सकता है।

स्टमक फ्लू से बचने के उपाय
किसी भी तरह से वायरस इन्फेक्शन से बचने के लिए कुछ उपाय अपनाए जा सकते हैं। ऐसे में डॉक्टर ने स्टमक फ्लू से बचने के लिए कुछ उपाय बताए, जिनकी मदद से आप खुद को और अपने करीबियों से इस इन्फेक्शन से बचा सकते है-

स्वच्छता का ध्यान रखें- हमेशा अपने हाथ साबुन और पानी से धोएं। खासकर भोजन करने से पहले और शौचालय का उपयोग करने के तुरंत बाद हाथ धोना बिल्कुल न भूलें।
फूड सेफ्टी- कंटेमिनेशन से बचने के लिए, सुनिश्चित करें कि आप जो कुछ भी खा रहे हैं, वह ठीक से स्वच्छता के साथ पकाया और स्टोर किया गया हो।
वाटर सेफ्टी- शरीर में वायरस को जाने से रोकने के लिए जरूरी है कि आप दूषित पानी पीने से बचें। ऐसे में कोशिश करें कि आप स्वच्छ स्रोतों से सुरक्षित और साफ पानी का इस्तेमाल करें।
निकट संपर्क से बचें- वायरस फैलने से रोकने के लिए इस बात का ध्यान रखें कि आप उन लोगों से दूर रहें जिनमें स्टमक फ्लू के लक्षण दिखाई दे रहे हों।
इम्युनिटी बूस्ट करें- अपनी इम्युनिटी मजबूत कर आप इन्फेक्शन से खुद को बचा सकते हैं। प्रतिरक्षा प्रणाली मजबूत करने के लिए एक स्वस्थ जीवनशैली अपनाए जिसमें संतुलित आहार, लगातार व्यायाम और पर्याप्त नींद शामिल हो।