Tuesday , July 16 2024
Home / छत्तीसगढ़ / एनएसयूआई-युकां कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी पर कांग्रेस ने की DGP से मुलाकात

एनएसयूआई-युकां कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी पर कांग्रेस ने की DGP से मुलाकात

छत्तीसगढ़ के बलौदाबाजार हिंसा को लेकर सियासी पारा कम होने का नाम नहीं ले रहा है। मामले में अब तक 150 लोगों से ज्यादा की गिरफ्तारी हो चुकी है।

छत्तीसगढ़ के बलौदाबाजार हिंसा को लेकर सियासी पारा कम होने का नाम नहीं ले रहा है। मामले में अब तक 150 लोगों से ज्यादा की गिरफ्तारी हो चुकी है। एनएसयूआई और यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता भी सलाखों के पीछे हैं।

इसे लेकर कांग्रेस स्थानीय प्रशासन और भाजपा के ऊपर आरोप लगाया है। कांग्रेस कार्यकर्ता और समर्थकों की गिरफ्तारी पर पार्टी के प्रतिनिधिमंडल ने डीजीपी से मुलाकात की। मुलाकात के दौरान उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा के नेताओं के इशारे पर पुलिस कांग्रेस के लोगों की गिरफ्तारी कर रही है।

बलौदाबाजार हिंसा मामले में प्रदेश कांग्रेस नेताओं ने डीजीपी से मुलाकात की है। इसके साथ ही हिंसा को लेकर विभिन्न मुद्दों पर चर्चा हुई है। घटना और प्रदेश की बिगड़ती कानून व्यवस्था को लेकर कांग्रेस के प्रतिनिधिमंडल ने डीजीपी से मुलाकात की है।

बता दें कि बलौदाबाजार हिंसा मामले में कई एनएसयूआई और यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी हुई है। इसके अलावा कांग्रेस विधायक को नोटिस जारी कर थाना बुलाया जा रहा है। मुलाकात के दौरान कांग्रेस नेताओं ने एनएसयूआई और यूथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं की गिरफ्तारी के मुद्दे पर चर्चा की।

प्रतिनिधिमंडल ने आरोप लगाया कि बीजेपी सरकार के दबाव में आकर पुलिस प्रशासन कम कर रही है। कांग्रेस संगठन के समर्थक निर्दोष पदाधिकारी, कार्यकर्ताओं और सतनामी समाज के लोगों जबरन गिरफ्तार कर रही है। इस घटना पर रोक लगाया जाए। पुलिस पर गंभीर आरोप लगाते हुए कहा कि स्थानीय पुलिस प्रशासन अपनी सफलता को छुपाने के लिए निर्दोष लोगों की गिरफ्तारी कर रही है।

उनका आरोप है कि विपक्ष राजनीतिक दलों के साथ बदले की भावना के साथ कांग्रेस कार्यकर्ताओं और समर्थकों को प्रताड़ित किया जा रहा है। मामले में एसआई विधानसभा अध्यक्ष सूर्यकांत वर्मा और यूथ कांग्रेस जिला अध्यक्ष शैलेंद्र बंजारे की गिरफ्तारी पर कांग्रेस ने यह सवाल उठाया है।

इस दौरान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता पूर्व विधायक धनेंद्र साहू, सत्यनारायण शर्मा, फूलोदेवी नेताम, सुबोध हरितवाल, राजेंद्र तिवारी, देवेंद्र यादव शामिल थे।