Friday , May 24 2024
Home / MainSlide / वंशवादी शासन लोकतंत्र के लिए सबसे बड़ा खतरा- मोदी

वंशवादी शासन लोकतंत्र के लिए सबसे बड़ा खतरा- मोदी

कठुआ 14 अप्रैल।प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी ने वंशवादी शासन लोकतंत्र के लिए सबसे बड़ा खतरा बताते हुए कहा है कि कांग्रेस, नेशनल कांफ्रेस और पीडीपी का भारत विरोधी रवैया घोषणा पत्रों में किये गए उनके वायदों से लोगों के सामने उजागर हो रहा है।

श्री मोदी ने आज यहां एक रैली को संबोधित करते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी की नीतियां घाटी से कश्‍मीरी पंडितों के पलायन के लिए जिम्‍मेदार रही हैं। भारतीय जनता पार्टी कश्‍मीरी पंडितों को कश्‍मीर में उनके मूल स्‍थानों में फिर से बसाने के लिए प्रतिबद्ध है और इस दिशा में काम शुरू भी हो चुका है।

उन्होने कहा कि जम्‍मू हो, कश्‍मीर हो, लेह-लद्दाख हो यहां का बच्‍चा-बच्‍चा भारतीय है। कुछ मुठ्ठी भर लोगों की इच्‍छाओं का यहां का नागरिक गुलाम नहीं हो सकता। यही कठुआ है,जहां पर श्‍यामा प्रसाद मुखर्जी ने तिरंगा फहराया था।देश विरोधी हर ताकत को उन्‍होंने ललकारा था कि एक देश में दो विधान, दो प्रधान, दो निशान नहीं चलेंगे, नहीं चलेंगे।

श्री मोदी ने दो राजनीतिक परिवारों को राज्‍य की तीन पीढि़यों को बर्बाद करने का दोषी ठहराया। बाबा साहब डॉ. भीमराव आंबेडकर के कथन  का उल्‍लेख करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि वंशवादी शासन लोकतंत्र के लिए सबसे बड़ा खतरा है।श्री मोदी ने कहा कि वंशवादी परिवारों के खिलाफ वोट करना बाबा साहब के प्रति सबसे बड़ी श्रद्धांजलि होगी।