Friday , June 21 2024
Home / MainSlide / पूर्वोत्तर की संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए रूपरेखा करे तैयार – शाह

पूर्वोत्तर की संस्कृति को बढ़ावा देने के लिए रूपरेखा करे तैयार – शाह

गुवाहाटी 08 सितम्बर।केन्‍द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने पूर्वोत्‍तर की संस्‍कृति और धरोहर को बढ़ावा देने के लिए रूपरेखा तैयार करने पर बल दिया है।

श्री शाह ने आज पूर्वोत्‍तर परिषद की 68वीं पूर्ण बैठक में कहा कि अगर लोग पूर्वोत्‍तर की समृद्ध सांस्‍कृतिक धरोहर की अनदेखी करते हैं तो विकास का कोई अर्थ नहीं रह जायेगा।गृहमंत्री ने स्‍पष्‍ट किया कि संविधान के अनुच्‍छेद 371 को नहीं हटाया जायेगा।

उन्‍होंने कहा कि कुछ शक्तियां इस बारे में भ्रम फैलाने का प्रयास कर रही हैं। उन्‍होंने बातचीत के जरिये पूर्वोत्‍तर का सीमा विवाद सुलझाने का आह्वान किया।इस अवसर पर पूर्वोत्‍तर क्षेत्र विकास मंत्री जितेन्‍द्र सिंह भी उपस्थित थे।

ज्ञातव्य हैं कि पूर्वोत्‍तर परिषद्, उत्‍तर-पूर्व के आर्थिक और सामाजिक विकास के लिए नोडल एजेंसी है, जिसमें क्षेत्र के आठ प्रदेश शामिल हैं।परिषद् के अध्‍यक्ष के रूप में केन्‍द्रीय गृह मंत्री को शामिल करने के लिए एन ए सी को पिछले साल पुनर्गठित किया गया है और केन्‍द्रीय गृहमंत्री की अध्‍यक्षता में यह दूसरी बैठक है।