Friday , June 14 2024
Home / MainSlide / निजी-सरकारी भागीदारी से रक्षा उत्पादन में आ सकती हैं क्रांति – राजनाथ

निजी-सरकारी भागीदारी से रक्षा उत्पादन में आ सकती हैं क्रांति – राजनाथ

नई दिल्ली 28 सितम्बर।रक्षामंत्री राजनाथ सिंह ने आज कहा कि निजी-सरकारी भागीदारी से रक्षा उत्‍पादन में क्रांति लाई जा सकती है।

श्री सिंह ने आज यहां सोसाइटी ऑफ इंडियन डिफेंस मैन्‍युफैक्‍चर्स की वार्षिक बैठक में कहा कि सरकार ने वैश्विक सुरक्षा परिदृश्‍य को देखते हुए सशस्‍त्र सेनाओं का तेजी से आधुनिकीकरण सुनिश्चित करने के लिए एकजुटता का वातावरण बनाया है। उन्‍होंने कहा कि दुनियाभर के देश अपनी सेनाओं का आधुनिकीकरण कर रहे हैं और सीमा विवाद, समुद्री आधिपत्‍य तथा सुरक्षा चिंताओं को देखते हुए सैन्‍य उपकरणों की मांग में वृद्धि हुई है।

उन्होने कहा कि भारतीय कंपनियां कम लागत में आधुनिक हथियार बनाने में सक्षम हैं। उन्‍होंने बल देते हुए कहा कि भारतीय रक्षा उद्योग अत्‍याधुनिक, उच्‍च गुणवत्‍तायुक्‍त और कम लागत वाले हथ‍ियारों का उत्‍पादन कर सकता है जिससे ना केवल राष्‍ट्रीय सुरक्षा सुदृढ होगी, बल्कि साथ ही भारत हथियारों का निर्यातक देश भी बनेगा। उन्‍होंने दोहराया कि सरकार का ‘मेक इन इंडिया’ और ‘मेक फॉर द वर्ल्‍ड’ का संकल्‍प पिछले अनुभवों, वर्तमान स्थितियों और भविष्‍य की आवश्‍यकताओं पर आधारित है।