Wednesday , April 24 2024
Home / MainSlide / सलमान खान को मिला गन लाइसेंस, मिली थी जान से मारने की धमकी

सलमान खान को मिला गन लाइसेंस, मिली थी जान से मारने की धमकी

बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान (Salman Khan) को गन लाइसेंस मिल गया है, जिसके लिए उन्होंने कुछ दिन पहले मुंबई पुलिस कमिश्नर से मुलाकात की थी। सलमान खान को कुछ वक्त पहले लॉरेंस बिश्नोई गैंग की ओर जान से मारने की धमकी मिली थी, जिसके बाद सलमान को सतर्क रहने के लिए कहा गया था। एक ओर जहां सलमान को गन लाइसेंस मिला है तो दूसरी ओर कहा जा रहा है कि उन्होंने अपनी गाड़ी को भी अपग्रेड किया है।

सलमान को मिला गन लाइसेंस
बॉलीवुड अभिनेता सलमान खान ने 22 जुलाई को मुंबई पुलिस कमिश्रर से मुलाकात की थी। तब बताया गया था कि सलमान ने हथियार लाइसेंस के आवेदन के लिए पुलिस कमिश्रर से मुलाकात की थी और आवेदन दिया था। ऐसे में अब रिपोर्ट के मुताबिक सलमान खान को गन लाइसेंस मिल चुका है। हिन्दुस्तान टाइम्स की रिपोर्ट के मुताबिक एक सीनियर आईपीएस अधिकारी ने इस खबर की पुष्टि की है। इस आवेदन के बाद आधिकारिक तौर पर डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन और क्रिमिनल रिकॉर्ड की जांच हुई, और मामले की गंभीरता को देखते हुए गन लाइसेंस जारी कर दिया गया।

सलमान ने कार को किया बुलेटप्रूफ
एक ओर जहां सलमान खान को हथियार का लाइसेंस मिल गया है तो दूसरी ओर ऐसी भी खबरें सामने आ रही हैं कि सलमान ने उनकी गाड़ी को भी अपग्रेड किया है। सलमान ने अपनी गाड़ी टोयोटा लैंड क्रूजर में कुछ आर्मर्स के साथ ही कार को बुलेटप्रूफ करवाया है। यानी सलमान की गाड़ी अब बुलेटप्रूफ हैं। हालांकि इस बारे में अभी तक कोई भी आधिकारिक बयान सामने नहीं आया है।

सिद्धू के बाद सलमान को धमकी
गौरतलब है कि पंजाब के मानसा में इस साल 29 मई को पंजाबी सिंगर और रैपर सिद्धू मूसेवाला को दिनदहाड़े गोलियों से भूनकर मौत के घाट उतार दिया गया था। सिद्धू की मौत के कुछ वक्त बाद सलमान खान को भी धमकी दी गई थी, जिस में लिखा गया था- तुम्हारा भी मूसेवाला कर दूंगा। इसके बाद सलमान खान की सुरक्षा बढ़ा दी गई थी, वहीं सुरक्षा खत्म होने के बाद सलमान को भी एहतियात बरतने के लिए कहा गया था।

सलमान के लिए धमकी भरा पत्र
याद दिला दें कि लॉरेंस बिश्नोई गिरोह के तीन सदस्यों ने अभिनेता सलमान खान और उनके पिता सलीम खान को धमकी भरा पत्र भेजा था तथा यह गैंगस्टर विक्रम बराड़ की साजिश का हिस्सा था, जिसका मकसद पिता-पुत्र को भयभीत कर धन उगाही करना था। पुलिस अधिकारियों ने यह दावा किया। उन्होंने बताया कि गिरोह के एक कथित सदस्य महाकाल उर्फ सिद्धेश काम्बले को पुणे पुलिस ने गिरफ्तार किया था और उसी ने पूछताछ में उक्त जानकारी दी। इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, मामले की जांच कर रही मुंबई पुलिस ने कहा कि धमकी भरा पत्र गैंगस्टर लॉरेंस बिश्नोई के गिरोह का पब्लिसिटी स्टंट था। अधिकारियों के अनुसार, बिश्नोई के एक सहयोगी विक्रम बराड के कहने पर धमकी दी गई थी, जो वर्तमान में कनाडा में स्थित है।