Wednesday , February 8 2023
Home / MainSlide / गुजरात और हिमाचल प्रदेश में मतगणऩा कल

गुजरात और हिमाचल प्रदेश में मतगणऩा कल

नई दिल्ली 07 दिसम्बर।गुजरात और हिमाचल प्रदेश विधानसभा चुनाव के लिए डाले गए वोटों की गिनती कल होगी।इसके लिए सभी तैयारियां पूरी हो गई हैं।

 मुख्‍य निर्वाचन आयुक्‍त राजीव कुमार और निर्वाचन आयुक्‍त अनुप चन्‍द्र पांडेय तथा अरुण गोयल ने आज मतगणना की तैयारियों की समीक्षा की। कल ही उत्‍तर प्रदेश की मैनपुरी लोकसभा सीट और पांच राज्‍यों की छह विधानसभा सीटों के उपचुनाव के वोटों की गिनती भी होगी।

    निर्वाचन आयोग के अनुसार मतगणना सुचारू रूप से सुनिश्चित करने के लिए हिमाचल प्रदेश और गुजरात में दो-दो विशेष पर्यवेक्षक नियुक्‍त किए गए हैं। उपचुनाव के लिए प्रत्‍येक निर्वाचन क्षेत्र के लिए एक-एक पर्यवेक्षक रहेगा।मतगणना कल सवेरे आठ बजे शुरू होगी।

     गुजरात में 37 मतगणना केन्‍द्र बनाए गए हैं।भारतीय जनता पार्टी, कांग्रेस और आम आदमी पार्टी के बीच त्रिकोणीय मुकाबला है।राज्य के मुख्य निर्वाचन अधिकारी ने बताया कि सभी मतगणना केन्‍द्रों पर व्‍यापक निगरानी रखने के लिए 182 पर्यवेक्षकों और इतनी ही संख्‍या में सहायक निर्वाचन अधिकारियों की तैनाती की गई है। इसके अलावा, मतगणना की पूरी प्रक्रिया पर नजर रखने के लिए 494 सहायक निर्वाचन अधिकारी भी तैनात किए गए हैं। हर मतगणना की टेबल पर एक माइक्रो-ऑब्जर्वर और काउंटिग सुपरवाइजर भी तैनात किया गया है।

   चुनाव आयोग पूरी मतगणना की प्रक्रिया की वीडियोग्राफी भी करवा रहा है। इसके अलावा, मतगणना स्‍थलों की त्रिस्तरीय सुरक्षा व्यवस्था की गई है। मतगणना केंद्रों के बाहरी इलाके में गुजरात पुलिस की तैनाती की गई है।

    हिमाचल प्रदेश में 59 स्‍थानों पर 68 केंद्रों में मतगणना की व्‍यवस्‍था की गई है।राज्य भर के 68 हॉलों में मतगणना सुनिश्चित करने के लिए न्‍यूनतम आठ और अधिकतम 14 टेबलें लगायी गई हैं। डाक मतपत्रों के लिए और मतगणना के लिए कंप्यूटर से जुड़े इलेक्ट्रॉनिक रूप से प्रेषित डाक मतपत्रों को स्कैन करने के लिए एक अलग टेबल होगी।

     मुख्य निर्वाचन अधिकारी मनीष गर्ग ने कहा कि सुचारू मतगणना प्रक्रिया सुनिश्चित करने के लिए रिटर्निंग अधिकारियों और सहायक रिटर्निंग अधिकारियों की एक टीम को भी तैनात किया गया है। उन्होंने कहा कि भारत निर्वाचन आयोग द्वारा जारी वैध पहचान पत्र या पास के अलावा किसी भी उम्मीदवार या किसी अन्य व्यक्ति को मतगणना केंद्रों से 100 मीटर की परिधि के भीतर अनुमति नहीं दी जाएगी। राज्य में कल मतगणना ड्यूटी के लिए सुरक्षाकर्मियों सहित लगभग दस हजार ड्यूटी स्टाफ को तैनात किया गया है।