Thursday , May 23 2024
Home / MainSlide / कांग्रेस अधिवेशन को केन्द्र की एजेन्सियां नही कर सकती विफल – भूपेश

कांग्रेस अधिवेशन को केन्द्र की एजेन्सियां नही कर सकती विफल – भूपेश

रायपुर 20 फरवरी।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने कहा हैं कि मोदी सरकार एवं उनकी एजेन्सियां चाहे जितनी ताकत लगा लें,वह कांग्रेस के अधिवेशन को विफल नही कर सकती।उनकी इस तरह की हरकतों ने कांग्रेसजनों में और जोश पैदा किया है,और वह अधिवेशन को और सफल कराने के लिए ताकत झोंक रहे है।

श्री बघेल ने आज यहां प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में प्रेस कान्फ्रेंस में प्रधानमंत्री मोदी और उनकी एजेन्सियां कांग्रेस को डराने की कोशिश कर रही है लेकिन उन्हे समझ लेना चाहिए कि जब हम गोरो से नही डरे तो इनसे कहां डरने वाले है।उन्होने कहा कि चार दिन बाद कांग्रेस का 85वां अधिवेशन यहां हो रहा है और आज उन पार्टीजनों के यहां चुन चुन कर ईडी ने छापे की कार्रवाई शुरू की है जोकि अधिवेशन की तैयारियों से सीधे जुड़े हुए है।

उन्होने कहा कि पार्टी के प्रदेश कोषाध्यक्ष रामगोपाल अग्रवाल,पूर्व उपाध्यक्ष गिरीश देवांगन,दो विधायकों देवेन्द्र यादव एवं चन्द्रदेव राय,भवन एवं कर्मकार मंडल के अध्यक्ष सुशील सन्नी अग्रवाल.गृह निर्माण मंडल के सदस्य विनोद तिवारी एवं पार्टी प्रवक्ता आर.पी.सिंह के यहां ईडी ने सुबह से छापे की कार्रवाई शुरू की है।उनकी कोशिश है कि अधिवेशन की तैयारी से जुड़े लोग इस दबाव में काम नही करें,पर उन्हे नही पता कि इससे कांग्रेसजनों में और स्फूर्ति आयेगी।

श्री बघेल ने कहा कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस के पास प्रचंड बहुमत के चलते विधायक खरीदी तो संभव नही थी इस कारण राजनीतिक मोर्चे पर विफलता के बाद ईडी,आयकर और अन्य एजेन्सियों को लगा दिया गया है।उन्होने कहा कि जब भी कुछ बड़ा होता है एजेन्सियों की कारगुजारी शुरू हो जाती है। झारखंड में कांग्रेस गठबंधन को जीत मिली तो तुरंत छापे मारी हुई,फिर असम,उत्तरप्रदेश में जब पार्टी की ओर से जवाबदेही मिली तो फिर छापे मारी हुई।हिमाचल प्रदेश में जीत के बाद छापे मारी हुई और अब कांग्रेस अधिवेशन के चार दिन पहले।

उन्होने कहा कि यह डरे हुए लोग है।अडानी पर हमारे नेता राहुल गांधी सहित अन्य नेताओं के उठाए गए सवालों का मोदी और उनकी सरकार के आज तक जवाब नही दिया और उल्टे डराने की कोशिश की है।संसद की कार्यवाही से आरोपो तक हटवा दिया गया हैं।उन्होने छापे को लेकर पूर्व मुख्यमंत्री डा.रमन सिंह के बयान के बारे में पूछे जाने पर कहा कि लगता है कि वह ही इनके प्रवक्ता बन गए है। जो वह बयान जारी करते है बाद में एजेन्सियां भी वहीं जारी करती है।इससे साफ है कि भाजपा की शह पर यह सब हो रहा है।

कांग्रेस की छत्तीसगढ़ प्रभारी कुमारी सेलजा ने कहा भाजपा किस कदर से कांग्रेस से डर चुकी है कि उनकी केंद्र सरकार दमनकारी नीतियों को अपना रही हैं। विपक्ष की आवाज उठाने नहीं देते। जिन यहां असली मायने में छापे की कार्रवाई होना चाहिए उन पर सवाल नही हो।राहुल गांधी ने भारत जोड़ो यात्रा की तो इससे इतना बौखला गए हैं कि ये इस तरह के हथकंडे अपना रहे हैं।क्या कारण है कि बार-बार कांग्रेस को टारगेट किया जा रहा है। कांग्रेस पार्टी, हमारे नेता, हमारे कार्यकर्ता न इनसे दबने वाले हैं, बल्कि और ज्यादा मजबूत होकर आवाज उठाएंगे। आज अडानी पर रेड करने की जरूरत है, जिसने दुनियाभर में भारत को नीचा दिखाया है। कांग्रेस ने हर रोज सवाल पूछे, 14 दिन हो गए, लेकिन क्या किसी ने एक भी दिन जवाब दिया।प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष मोहन मरकाम ने कहा कि भाजपा जब राजनैतिक रूप से मुकाबला नही कर पाती तो वह ईडी, सीबीआई, आईटी जैसी केन्द्रीय एजेंसियों का दुरूपयोग करती है।