Sunday , April 21 2024
Home / MainSlide / मोदी सरकार के खिलाफ अविश्‍वास प्रस्‍ताव राजनीति से प्रेरित- अमित शाह

मोदी सरकार के खिलाफ अविश्‍वास प्रस्‍ताव राजनीति से प्रेरित- अमित शाह

नई दिल्ली 09 अगस्त। गृहमंत्री अमित शाह ने कहा कि जनता और संसद का मोदी सरकार में पूरा भरोसा है,और उसके खिलाफ अविश्‍वास प्रस्‍ताव राजनीति से प्रेरित हैं।

      श्री शाह ने लोकसभा ने आज दूसरे दिन अविश्‍वास प्रस्‍ताव पर चर्चा में हिस्सा लेते हुए कहा कि नरेन्‍द्र मोदी सरकार ने कुछ ऐतिहासिक फैसले लिए हैं और वंशवाद और रिश्वतखोरी को खत्‍म किया हैं। उन्‍होंने कहा कि यूपीए का चरित्र सत्‍ता को बचाए रखना है जबकि एनडीए सिद्धान्‍तों की रक्षा के लिए लड़ता है।श्री शाह ने कहा कि मोदी सरकार के पिछले नौ साल में आतंकी घटनाओं में 68 प्रतिशत की कमी आई है।

     उन्होने जम्‍मू कश्‍मीर का उल्लेख करते हुए कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी के नेतृत्‍व में सरकार ने कश्‍मीर को आतंक मुक्‍त करने के लिए लगातार काम किया है। उन्‍होंने कहा कि सरकार पाकिस्‍तान, हुर्रियत या जमीयत के साथ नहीं बल्कि जम्‍मू कश्‍मीर के युवाओं के साथ बात करेगी। वामपंथी उग्रवाद के बारे में गृहमंत्री ने कहा कि नक्‍सली अब छत्‍तीसगढ के तीन जिलों में सिमट कर रह गये हैं।

    पूर्वोत्‍तर के बारे में श्री शाह ने कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों ने इस क्षेत्र के लिए कुछ नही किया जबकि श्री मोदी सरकार इस क्षेत्र में समग्र विकास लेकर आई और इसे मुख्‍य धारा में शामिल किया। उन्‍होंने कहा कि श्री मोदी ने पिछले नौ वर्ष में पचास से अधिक बार‍ पूर्वोत्‍तर का दौरा किया।

    मणिपुर के बारे में श्री शाह ने कहा कि वहां हुई हिंसा की घटनाओं से हर व्‍यक्ति दुखी है, उन्‍होंने कहा कि ये घटनाएं शर्मनाक हैं लेकिन इस पर राजनीति करना और भी शर्मनाक है। श्री शाह ने कहा कि मणिपुर में जो हो रहा है वह परिस्थितियों से पैदा हुई जातीय हिंसा है और इसे राजनीतिक मुद्दा नहीं बनाया जाना चाहिए। उन्‍होंने कहा कि मणिपुर हिंसा में तीन मई से 152 लोगों की जान जा चुकी है। उन्‍होंने मणिपुर के मैतेई और कुकी समुदाय से हिंसा छोडने और सरकार से बातचीत करने की अपील की। श्री शाह ने कहा कि वे दोनों समुदाय के लोगों से अलग – अलग बात कर रहे हैं।गृहमंत्री ने कहा कि वह मणिपुर मुद्दे पर पहले दिन से ही चर्चा के लिए तैयार हैं लेकिन विपक्ष चर्चा नहीं चाहता वह सिर्फ विरोध करना चाहता है।

    लोकसभा अध्‍यक्ष ओम बिरला ने पूरे सदन की ओर से मणिपुर में शांति की अपील की। गृहमंत्री के सम्‍बोधन के बाद सदन की कार्रवाई कल तक के लिए स्‍थगित कर दी गई। कल प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी लोक सभा में अविश्‍वास प्रस्‍ताव का जवाब देंगे ।