Saturday , March 2 2024
Home / जीवनशैली / आयुर्वेद के आनुसर दूध के साथ इन 5 चीजों को ना खाये

आयुर्वेद के आनुसर दूध के साथ इन 5 चीजों को ना खाये

दूध को सम्पूर्ण आहार माना जाता है। यह सेहत के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। इसमें कैल्शियम और प्रोटीन की मात्रा अधिक होती है। जो शरीर को कई बीमारियों से बचाते हैं। दूध को और भी पौष्टिक बनाने के लिए लोग इसमें कई चीजें भी मिलाते हैं, लेकिन क्या आप जानते हैं, आयुर्वेद में दूध के साथ कुछ चीजें खाने की मनाही होती है। कहा जाता है कि दूध पीने के बाद इन चीजों को खाने से पित्त दोष बढ़ता है। आइए जानते हैं दूध के साथ किन चीजों को खाने से परहेज करना चाहिए।

मछली और दूध से परहेज करें

दूध की तासीर ठंडी होती है तो वहीं मछली की तासीर गर्म होती है। इसे एक साथ खाने से शरीर में कई समस्याएं हो सकती हैं। इसके अलावा चिकन और रेड मीट भी खाने से परहेज करना चाहिए, क्योंकि इससे पाचन संबंधी समस्याएं हो सकती हैं और ब्लोटिंग का भी सामना करना पड़ सकता है।

केला और दूध खाने से बचें

हम सभी जानते हैं कि दूध और केला सेहत के लिए काफी फायदेमंद माना जाता है। अगर आप थकान महसूस करते हैं, तो अपनी डाइट में केला और दूध शामिल कर सकते हैं। इससे शरीर में एनर्जी आती है, लेकिन क्या आप जानते हैं, दूध और केला एक साथ खाने पाचन से जुड़ी समस्या हो सकती है।

दही और दूध एक साथ न खाएं

आयुर्वेद के अनुसार दूध और दही एक साथ कभी नहीं खाना चाहिए। अगर आप इसे एक साथ खाते हैं, तो आपका पेट खराब हो सकता है, इसलिए दूध-दही एक साथ खाने से परहेज करें।

खट्टे फल

दूध के साथ खट्टे फल कभी नहीं खाना चाहिए। इससे उल्टी या पेट दर्द की शिकायत हो सकती है। फल खाने के कम से कम 2 घंटे बाद ही दूध पिएं।

गुड़

अक्सर लोग दूध में चीनी की जगह गुड़ मिलाते हैं। यह एक हेल्दी ऑप्शन है, लेकिन आयुर्वेद में दूध के साथ गुड़ का सेवन पेट के लिए हानिकारक बताया गया है।