Wednesday , February 8 2023
Home / MainSlide / सिलगेर की घटना दुर्भाग्यजनक,जांच के तथ्यों के आधार पर होंगी कार्रवाई – भूपेश

सिलगेर की घटना दुर्भाग्यजनक,जांच के तथ्यों के आधार पर होंगी कार्रवाई – भूपेश

रायपुर 12 जून।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने बीजापुर और सुकमा जिले की सीमा पर स्थित सिलगेर में पिछले महीने हुई घटना को दुर्भाग्यजनक करार देते हुए कहा कि मामले की जांच में आए तथ्यों के आधार पर कड़ी कार्रवाई की जायेंगी।

श्री बघेल ने आज दोनो जिलों के ग्रामीणों, जनप्रतिनिधियों और समाज प्रमुखों के साथ वर्चुअल संवाद कार्यक्रम में सिलगेर की घटना को दुर्भाग्यजनक बताते हुए इस घटना पर दुःख प्रकट किया। उन्होने कहा कि यह परिस्थितिजन्य घटना थी, इस घटना की दण्डाधिकारी जांच की घोषणा की गई है।आप सभी लोग इसमें सहयोग करें। राज्य सरकार भी यह चाहती है कि तथ्य सामने आए और जो भी तथ्य सामने आएंगे उन पर कार्रवाई में कोई कोताही नहीं होगी।

ज्ञातव्य है कि सिलगेर घुर नक्सल इलाका है।यहां सीआरपीएफ का कैंप पिछले महीने स्थापित हुआ है जिसको लेकर स्थानीय ग्रामीण विरोध कर रहे है।पुलिस का दावा है कि यह विरोध नक्सली ग्रामीणो को उसका कर करवा रहे है।पिछले महीने विरोध कर रहे लोगो पर कथित फायरिंग में नौ लोगो की मौत हो गई थी जिसके बाद से इलाके में तनाव बना हुआ है।

श्री बघेल ने ग्रामीणों, जनप्रतिनिधियों और समाज प्रमुखों से कहा कि राज्य सरकार आदिवासियों के हितों के संरक्षण के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि इस बैठक में सभी लोगों के साथ सार्थक चर्चा हुई। सभी लोग क्षेत्र में शांति, विकास और न्याय चाहते हैं। श्री बघेल ने   ग्रामीणों की मांग पर जगरगुण्डा में 30 बिस्तरों के अस्पताल की स्वीकृति की घोषणा की।

मुख्यमंत्री ने जनप्रतिनिधियों से अपील की कि गांवों में ग्राम विकास समिति का गठन किया जाए, जिसमें पढ़े लिखे युवाओं को शामिल किया जाए। विशेष परिस्थितियों में जहां सरपंच नहीं रहते हैं, वहां इस समिति को निर्माण कार्य सौंपे जाएंगे। उन्होंने सभी समाज प्रमुखों, जनप्रतिनिधियों से अपील की कि जिस भूमि पर मूल निवासी काबिज हैं, उनका नक्शा तैयार करा कर वन अधिकार मान्यता अधिनियम के तहत काबिज जमीन का पट्टा दिलाने की पहल की जाए। उन्होंने ग्रामीणों के आग्रह पर उन्हें रायपुर आकर उनसे मिलने के लिए आमंत्रित किया।