Friday , June 14 2024
Home / MainSlide / मोदी एवं भाजपा की आदत अपनी असफलता को दूसरों पर थोपना – भूपेश

मोदी एवं भाजपा की आदत अपनी असफलता को दूसरों पर थोपना – भूपेश

(फाइल फोटो)

रायपुर 11 जुलाई।छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने भाजपा नेताओं द्वारा अपनी सरकार पर किए जा रहे दोषारोपण पर पलटवार करते हुए कहा हैं कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी एवं भाजपा की अपनी असफलताओं को दूसरों पर थोपने की आदत हैं।

श्री बघेल ने आज विमानतल पर पत्रकारों के राज्य में आने वाले वरिष्ठ भाजपा नेताओँ द्वारा उनकी सरकार पर किए जा रहे हमले के बारे में पूछे जाने पर यह टिप्पणी की।उन्होने केन्द्रीय मंत्रिमंडल में हाल में हुए फेरबदल को इसका ताजा उदाहरण करार देते हुए कहा कि वैक्सीन एवं लाकडाउन लगाने का काम मोदी जी ने किया,सारी बैठके मोदी जी ने की,टीका उत्सव मनाने का निर्णय मोदी जी का था।वैक्सीन 25 प्रतिशत निजी क्षेत्र,25 प्रतिशत राज्य तथा 50 प्रतिशत केन्द्र द्वारा देने का निर्णय मोदी जी का था,वैक्सीन विदेश भेजने का निर्णय मोदी जी का था,और जब चारों तरफ से आलोचनाएं होने लगी तो गाज डा.हर्षवर्धन पर गिराकर उन्हे मंत्रिमंडल से बाहर कर दोषी ठहरा दिया गया।

उन्होने कहा कि मोदी जी का कोई कार्यक्रम अब तक सफल नही रहा है,चाहे नोटबंदी हो या फिर जीएसटी या फिर लाकडाउन।रासयनिक खाद तक मोदी सरकार उपलब्ध नही करवा पा रही है,पूरे देश में यूरिया और डीएपी की किल्लत मची हुई है।उन्होने आरोप लगाया कि गैर भाजपा शासित राज्यों के साथ खाद की आपूर्ति में भी भेदभाव हो रहा है।उन्होने कहा कि मध्यप्रदेश एवं उत्तरप्रदेश की अपेक्षा छत्तीसगढ़ को खाद नही मुहैया करवाई जा रही है।

श्री बघेल ने कहा कि राज्य में अभी तक वैक्सीन का 87 लाख से अधिक प्रथम डोज एवं 17 लाख से अधिक दूसरा डोज लग चुका है।उन्होने कहा कि आप वैक्सीन देंगे नही और उल्टे आरोप हम पर लगायेंगे।उन्होने कहा कि वैक्सीन पर्याप्त मात्रा में दीजिए और अलग हम नही लगा सके तो दोषारोपण करिये।श्री बघेल केन्द्रीय मंत्रिमंडल पर छत्तीसगढ़ से किसी के शामिल नही किए जाने पर तंज कसा।

उन्होने बताया कि दिल्ली में उनकी कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी एवं महासचिव प्रियंका गांधी से मुलाकात हुई,और राज्य की राजनीतिक स्थिति,निगमों मंडलों में नियुक्तियों तथा राज्य सरकार द्वारा चलाए जा रहे कार्यक्रमों पर विस्तृत चर्चा हुई।एक प्रश्न के उत्तर में उन्होने कहा कि हाईकमान ने जो जिम्मेदारी दी हैं उसका निर्वहन वह कर रहे है।हाईकमान जब जो कहेंगा उसका पालन होंगा।उन्होने बार बार राज्य में नेतृत्व को लेकर कयासबाजी को मीडिया के दिमाग की उपज बताया और कहा कि जितनी बार इस बारे में सवाल पूछा जायेगा उनका उत्तर यहीं रहेगा।